देवरीकलां (नवदुनिया न्यूज)। समर्थन मूल्य पर गेहूं की खरीदी के लिए 4 दिन ही शेष बचे है। वहीं उपार्जन केंद्रों पर बारदाना नहीं है। खरीदी केंद्रों पर तीन-चार दिन से सैकड़ों ट्रैक्टर ट्रॉलियां खड़ी हुई हैं। ऐसे में किसानों को गेहूं न बिक पाने की चिंता सता रही है। वहीं कई खरीदी केंद्रों पर तुलाई तो हो चुकी है। गेहूं वहां पड़ा है, लेकिन अब तक परिवहन न होने से समस्याएं बढ़ती जा रही हैं।

कृषि उपज मंडी देवरी में बेलढाना सेवा सहकारी समिति के गेहूं खरीदी केंद्र पर सबसे अधिक अव्यवस्थाएं देखी जा रही हैं। मंडी परिसर के शेडो में हजारों क्विंटल गेहूं बारदाने की कमी के कारण पैकिंग नहीं हो पा रहा है। इसके चलते यहां सैकड़ों की संख्या में ट्रैक्टर-ट्रालियों का मेला लगा हुआ है। देवरी के पृथ्वी वार्ड निवासी किसान हेमराज पाठक का कहना है कि मैं 3 दिन से दो ट्रैक्टर ट्रालियों में 100 क्विंटल से अधिक गेहूं की बोरियां लादकर मंडी में ठहरा हूं, लेकिन गेहूं की तौल नहीं हो रही है। तुलाई कब होगी, यह कोई बताने को तैयार नहीं है। यदि यही हाल रहा तो गेहूं खरीदी की तारीख निकल जाएगी। ऐसा ही हाल बोरिया समिति का है। जहां बारदाने की कमी के कारण किसानों की उपज रखी हुई है।

बोरिया समिति के प्रवंधक बृजबिहारी दुबे ने बताया कि 4 दिन से लगातार गेहूं खरीदी के लिए बारदाने की मांग कर रहे हैं, लेकिन उन्हें बारदाना उपलब्ध नहीं हो पा रहा है। यही हाल बीना बारह समिति का है। इस संबंध में नागरिक आपूर्ति निगम देवरी के प्रभारी अधिकारी अरविंद जैसवार का कहना है कि बारदाने की कमी सभी सेंटरों पर है। समितियों द्वारा डिमांड की जा रही है, लेकिन बारदाना सागर जिले में भी नहीं है। एक-दो दिन में बारदाना आने की संभावना है। बारदाना आते ही, सभी केंद्रों पर मांग के अनुसार भेजा जाएगा।

-अरविंद जैसवार ,प्रभारी, नागरिक आपूर्ति निगम, देवरी।

2205 एसजीआर 155 देवरीकलां। कृषि उपज मंडी देवरी में बनाए खरीदी केंद्र पर खड़े किसानों के ट्रैक्टर।

2205 एसजीआर 156 देवरीकलां। परिवहन न होने की वजह से खरीदी केंद्र पर रखी गेहूं की बोरियां।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना