याद-ए- कैफी समारोह में कलमकारों ने अपनी रचनाओं के माध्यम से कैफी को किया याद

सागर। नवदुनिया प्रतिनिधि

शासकीय कन्या महाविद्यालय सागर में प्रगतिशील शायर और मशहूर नग्मानिगार कैफी आजमी के जन्मशती वर्ष पर मध्यप्रदेश हिंदी साहित्य सम्मेलन भोपाल व जिला इकाई ने याद- ए-कैफी समारोह का आयोजन किया। पहले सत्र में स्वागत उद्बोधन देते हुए प्रो.सुरेश आचार्य ने सागर की विभूतियों महाकवि पद्माकर, डॉ. हरीसिंह गौर, विट्ठलभाई पटेल, शिवकुमार श्रीवास्तव, अख्लाक सागरी का स्मरण करते हुए सभी का स्वागत किया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में मौजूद वरिष्ठ शायर इकबाल मसूद ने कैफी आजमी की शायरी, फिल्मी गानों, पत्रकारिता और कम्युनिस्ट पार्टी से जुड़ी बातें करते हुए उनके संस्मरणों को साझा किया।

उन्होंने कहा कि कैफी की शायरी को आज के समय में याद रखना बहुत ही जरूरी है। आज आवाम मुश्किल में है। वहीं अध्यक्षीय उद्बोधन देते हुए प्रख्यात आलोचक डॉ. जानकी प्रसाद शर्मा ने कैफी आजमी के व्यक्तित्व-कृतित्व पर विस्तार से बोलते हुए कहा कि मशहूर तरक्की पसंद शायर कैफी का स्मरण हमारी भारतीय संस्कृति की सुदीर्घ परंपरा का स्मरण है। आज ऐसे समय में जबकि भाषा को धर्म से जोड़ने की संभावना भी हमें कहीं नजर नहीं आती है, कैफी जैसे शायर को याद करने से एक बहुत बड़ी सांस्कृतिक सेवा हिंदी साहित्य सम्मेलन के मंच से संपन्ना हुई है। कार्यक्रम में शिवपुरी के रचनाकार विनय प्रकाश जैन नीरव के नवगीत संग्रह यात्रा कितनी कठिन है का विमोचन भी किया गया। प्रथम सत्र में अतिथि स्वागत उमाकान्त मिश्र, आशीष ज्योतिषी, प्रदीप पाण्डेय, आरके तिवारी, डॉ. चंचला दवे, पुष्पेंद्र पुनीत दुबे, अमित आठिया ने व मंच संचालन अनुपम तिवारी भोपाल ने किया।

कवियों व शायरों ने बांधा समा

समारोह के द्वितीय सत्र में हिंदी साहित्य सम्मेलन सागर की इकाई के अध्यक्ष आशीष ज्योतिषी ने स्वागत भाषण देते हुए सभी रचनाकारों का स्वागत किया। आमंत्रित कवियों व शायरों डॉ. वर्षा सिंह, डॉ. नवीन कानगो सागर, अनुपमा रावत, शिवकुमार अर्चन भोपाल, केशव तिवारी केशु व मानव बजाज दमोह, दौलत राम प्रजापति शिवपुरी व अशोक मिजाज बद्र सागर ने अपनी शानदार रचनाओं से उपस्थित श्रोताओं पर गहरा प्रभाव छोड़ा। कवि सम्मेलन का संचालन अभिषेक वर्मा भोपाल ने व आभार पुष्पेंद्र पुनीत दुबे सचिव जिला इकाई सागर ने माना।

----------------------

फोटो- 1711 एसए 11- याद-ए-कैफी समारोह में मंच पर मौजूद कवि व शायर।

Posted By: Nai Dunia News Network