सागर(नवदुनिया प्रतिनिधि)। शहर में गरज-चमक के साथ एक घंटे तक हुई जोरदार वर्षा से शहर की सड़कें जलमग्न हो गई। कई घरों व दुकानों में दो-दो फीट तक पानी भरने से लोगों का लाखों रुपये का नुकसान हो गया। घरों में पानी भरने से गुस्साए लोगों ने तिली क्षेत्र में चक्काजाम करके विधायक, नगर निगम और अन्य जनप्रतिनिधियों के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। मतदान के दो दिन पहले ही शहर के ऐसे हालात देखकर सरकार को जनता के आक्रोश का सामना करना पड़ सकता है। शहर के लगभग एक दर्जन से ज्यादा वार्डों में जलभराव होने से राहगीरों को असुविधा का सामना करना पड़ा। पानी निकासी की उचित व्यवस्था न होने से नगर निगम के महीनों पहले चले नालों की सफाई अभियान पर सवालियां निशान लग रहे हैं।

शहर में सुबह से ही बादलों के छाए रहने से शहरवासियों का उमस से बुराहाल रहा, लेकिन दोपहर दो बजे के बाद अचानक मौसम का मिजाज बदला और गरज-चमक के साथ तेज वर्षा का दौर शुरू हो गया। बादलों की गर्जना के बीच तेज बिजली चमकने से राहगीरों से लेकर घरों के अंदर बैठे लोग भी सहम उठे। जिला भाजपा कार्यालय के पास बिजली गिरने की सूचना भी मिली, हालांकि इससे कोई नुकसान सामने नहीं आया है। लगातार डेढ़ घंटे तक वर्षा होने से पूरा शहर तरबतर हो गया। शहर के कई वार्डों में घुटनों तक पानी भरने से स्थानीय लोगों को असुविधा का सामना करना पड़ा। वर्षा का यह दौर सागर सहित जिले के आसपास के ग्रामीण इलाकों में भी चलता रहा।

तिरूपतिपुरम में रस्सी पकड़कर निकले लोग, सिविल लाइन थाने में भरा पानी

मतदान के पहले शहर में बाढ़ जैसे हालात बनने से शहरवासियों में काफी आक्रोश है। कई लोग अपने-अपने घरों, गलियों में जलभराव होने से यहां की फोटों और वीडियो शेयर कर प्रशासन से मदद की अपील करते हुए नजर आए। जगह-जगह जलभराव होने से लोगों का काफी नुकसान हुआ और घरों में पानी भरने से लोग भयभीत भी दिखे। जनता नगर निगम व स्मार्ट सिटी के अधिकारियों को जनता कोसती रही। स्नहेनगर व शिवाजी वार्ड, तिली, जेल के पीछे, कटरा बाजार, राधा तिराहा, अंडरब्रिज, तिलकगंज सहित शहर के अधिकांश वार्डों में जलभराव की स्थिति बनी। इसके अलावा बस स्टैंड के पास जलभराव होने से बसों के पहिए डूबे हुए दिखे। वहीं सिविल लाइन थाने में भी जलभराव होने का मामला भी सामने आया है। इंटरनेट मीडिया पर इसका वीडियों भी वायरल होता रहा।

चक्काजाम कर विधायक के खिलाफ नारेबाजी

शहर में डेढ़ घंटे तक हुई तेज वर्षा से मधुकरशाह वार्ड व यादव कालोनी के कई घरों में पानी भर गया। गृहस्थी व दुकानों का सामान खराब होने से लोगों ने चक्काजाम कर दिया। कई घरों में दो तो कई में चार फीट तक पानी भरने से लोगों के पलंग व सोफा सहित अन्य घरेलू सामान वर्षा व नाली के गंदे पानी में डूबे हुए नजर आए। यादव कालोनी में भी दो-दो फीट पानी कई घरों में भरा हुआ दिखा। एक हार्डवेयर की दुकान में सीमेंट और पुट्टी की बोरियां पानी में डूबी। पानी निकासी नाले में न जोड़कर उसे खुला छोड़ दिया, जिससे पानी लोगों के घरों व दुकानों में भर गया। गुस्साएं लोगों ने नगर विधायक शैलेंद्र जैन, स्मार्ट सिटी और नगर निगम प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। चक्काजाम से यहां सड़क के दोनां ओर जाम लग गया, जिससे राहगीरों को परेशानियों का सामना करना पड़ा। कुछ देर बार पुलिस यहां पहुंची और लोगों को समझाइश देकर जाम खुलवाया। वहीं किशोर न्यायालय के पास भी जलभराव के विरोध में चक्काजाम हुआ जहां लोगों ने निगम अधिकारियों के विरोध में नारे लगाए।

आगे भी तेज वर्षा की संभावना

शहर में डेढ़ घंटे के अंदर करीब तीन इंच वर्षा हुई। वर्षा तेज होने के कारण शहर में कई जगह बाढ़ जैसे हालात भी बन गए। मौसम विभाग के अनुसार रविवार को शहर में शाम साढ़े 5 बजे तक 66.8 मिमी वर्षा दर्ज की गई। वर्षा का दौर देर शाम तक जारी रहा। वर्षा से शहर के तापमान में भी गिरावट आई है। शहर का अधिकतम तापमान 30.8 डिग्री दर्ज किया गया जो सामान्य से दो डिग्री कम रहा। वहीं न्यूनतम तापमान 22.6 डिग्री रहा जो सामान्य से एक डिग्री कम रहा। सुबह की आद्रर्ता 97 एवं शाम की आद्रर्ता 100 प्रतिशत दर्ज की गई। वहीं सुबह साढ़े 8 बजे तक शहर में 36 मिमी वर्शा हुई थी, जिसे मिलाकर शहर में अब तक 252.8 मिमी वर्षा दर्ज हुई।

बिजली गुल होने से घंटों अंधेरे में रहे लोग

शहर में जलभराव होने के साथ ही बिजली विभाग के अधिकारियों का मेंटनेंस कार्य भी सामने आ गया है। शहर के अधिकांश वार्डों में एक घंटे तो कुछ में दो-दो घंटे तक बिजली गुल रही। कनेरादेव, तिली क्षेत्र में हवा चलते ही बिजली गुल कर दी जाती है। स्नेहनगर, वैशाली नगर क्षेत्र में डेढ़ से दो घंटे तक बिजली गुल रहने से लोग परेशान हुए तो वहीं कनेरादेव क्षेत्र में तो आलम यह होता है कि हवा चलते ही यहां छात्रावास के पास बिजली गुल कर दी जाती है और बिजली के लिए लोगों को कई फोन लगाना पड़ते हैं। इसके अलावा बड़ा बाजार, काकागंज, धर्मश्री, परकोटा, विवेकानंद, मोहन नगर सहित शहर में कई बिजली गुल होने से लोगों को असुविधा का सामना करना पड़ा।

वर्षा से किसानों के चेहरे खिले

गरज-चमक के साथ झमाझम वर्षा होने से जिले के किसानों को राहत मिली है। खेतों में बोवनी के कार्य में तेजी आ गई है और कई किसान जो बोवनी कर चुके हैं वह वर्षा होने से खुश हैं। वर्षा से लोगों को जहां उमस भरी गर्मी से भी राहत मिली है। यह पानी फसलों के लिए फायदेमंद साबित होगा। मौसम विज्ञानियों के अनुसार सागर जिले में अभी वर्षा का दौर लगातार जारी रहेगा। आगामी 24 घंटों में सागर जिले में गरज-चमक के साथ वर्षा की संभावना जताई गई है।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close