सागर(नवदुनिया प्रतिनिधि)। जिले में कोरोना संक्रमण एक बार फिर तेजी से फैलता जा रहा है। जिले में पिछले एक पखवाड़े में 10 से ज्यादा मरीज मिल चुके हैं। वहीं मंगलवार को एक दिन में चार कोरोना मरीज मिले हैं, जो तीसरी लहर के बाद एक दिन में सबसे ज्यादा है। वहीं संभाग के टीकमगढ़ जिले में भी तीन मरीज मिले हैं जिससे एक दिन में बुंदेलखंड में सात मरीज सामने आए हैं। मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा होने से कोरोना गाइडलाइन का एक बार फिर सख्ती से पालन करना जरूरी हो गया है, नहीं तो चुनावी सभाओं में मरीजों की संख्या और ज्यादा बढ़ सकती है।

जिले में तीसरी लहर में कम मरीज सामने आने के बाद से लोगों के अंदर से कोरोना का खौफ खत्म हो गया है। आलम यह है कि लोगों ने मास्क पहनना व शारीरिक दूरी का पालन करना पूरी तरह से बंद कर दिया है। इस बीच चुनावी रैलियों व प्रचार के कारण लोग गाइडलाइन का पालन नहीं कर रहे हैं। कोई माला पहनाकर गले लग रहा है तो कोई हाथ मिलाकर पैर छूकर आशीर्वाद ले रहे हैं। नेताओं का यह चुनाव प्रचार जिले के लोगों में कोरोना संक्रमण फैलाने का काम कर सकता है। इसलिए प्रदेश व देश में लगातार बढ़ रहे कोरोना के प्रकरणों को देखते हुए लोगों को एक-दूसरे से शारीरिक दूरी बनाकर कोरोना गाइडलाइन का पालन करना जरूरी हो गया है।

संभाग में सात मरीज मिले, सतर्कता जरूरी

जिले में मंगलवार को चार कोरोना पाजिटिव मरीज सामने आए हैं, जिससे स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया है। बीएमसी की वायलाजी लैब से मिली जानकारी के अनुसार जिले में चार मरीज मिले हैं और टीकमगढ़ जिले में सात कोरोना संक्रमित मिले हैं। मरीजों का यह आंकड़ा पूरे प्रदेश में तेजी से बढ़ रहा है, जिस वजह से अब लोगों को सतर्क रहने की जरूरत है। बीएमसी के मीडिया प्रभारी डा. उमेश पटैल ने बताया कि प्रदेश व देश में लगातार कोरोना के नए मामले सामने आ रहे हैं, जिससे अब सतर्कता बरतने की जरूरत है। जिले के लोग मास्क पहने और समय पर टीकाकरण कराएं। इसके अलावा भीड़ भाड़ वाले इलाकों में जाने से बचे।

बीएमसी में एक भी मरीज भर्ती नहीं

जिले में पिछले 15 दिनों में लगभग 10 से ज्यादा कोरोना संक्रमित मरीज मिले हैं, जिसमें सभी मरीज होम आइसोलेशन या फिर सागर से बाहर ही भर्ती हैं। बीएमसी के अनुसार यहां एक भी मरीज के भर्ती होने की सूचना नहीं है और अधिकांश मरीजों ने घर के अंदर ही आइशोलेशन में रहने का निर्णय लिया है। बीएमसी प्रबंधन ने सभी संक्रमित मरीजों से कोरोना गाइडलाइन का पालन करने की अपील की है ताकि उनके संक्रमित होने के बाद कोई दूसरे मरीज प्रभावित न हो। इसके अलावा ऐसे सभी मरीज जिन्हें सर्दी, खांसी व जुखाम है वह भीड़ वाले इलाकों में जाने से परहेज करें ताकि संक्रमण और न फैले।

रैलियों में जुटाई जा रही भीड़, अधिकारी कर रहे अनदेखी

प्रदेश में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा होने के बाद भी चुनावी रैलियों में लोगों की भीड़ जुटाने का प्रयास चल रहा है। बसों और चारपहिया वाहनों में लोगों को एकत्रित करके चुनाव प्रचार में ले जाया जा रहा है, जबकि चुनावी माहौल बनाने के चक्कर में लोगों के संक्रमित होने का खतरा बन सकता है। जिले में प्रतिबंधात्मक आदेश लागू होने के कारण लोगों का भीड़ लगाकर खड़ा होना प्रतिबंधित है, लेकिन चुनावी रैलियों में इस आदेश का कोई पालन नहीं होता है। जिले के हालात न बिगड़े इसलिए प्रशासन को चुनावी माहौल में चार से ज्यादा लोगों के एकत्रित होने पर प्रतिबंध लगाने की जरूरत है, नहीं तो यह लापरवाही जिले के लोगों के लिए बाद में परेशानी बन सकती है।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close