गौरझामर(नवदुनिया न्यूज)। आज दयोदय गौशाला गौरझामर में नारी जागृति समिति की महिलाओं ने पहुंच कर गायों की सेवा की। रविवार को गोपाअष्टमी के अवसर पर कार्तिक मास की अष्टमी का महत्व बताते हुए समिति सदस्यों ने कहा कि आज ही के दिन से श्री कृष्ण भगवान ने गाय चराने का बीड़ा उठाया था। जब भगवान ऐसा कर सकते हैं तो हम इंसान उनकी सेवा क्यों नहीं कर सकते हैं।

उन्होंने कहा कि हिंदू धर्म में गाय को माता के रूप में दर्शाया गया है जो आज अनेक औषधियों बीमारियों पालन पोषण के रूप में सर्वप्रथम है वैज्ञानिक पद्धति से भी और आध्यात्मिक दृष्टि से भी जो साक्षात हमें लाभ प्रदान कर रही हैं फिर क्यों उनका निरादर किया जाए। क्यों ना हम सब एक बीड़ा उठाएं। गाय की सेवा कर उनका सहयोग करें। घर में पालें तो और भी अच्छा है। इससे हमारे घर में शुद्धिकरण होता है, शुद्ध दूध मिलता है, जिससे बच्चों का स्वास्थ्य भी ठीक रहता है। उन्होंने सभी से निवेदन कि समस्त समिति परिवार को चाहिए कि कम से कम दुखी, बीमार एवं दुर्घटनाओं में विकलांग हुई गायों की सेवा अवश्य करें और मदद करें।

इस दौरान अध्यक्ष अर्चना लोधी, शिक्षक रितु चौरसिया, रजनी विश्वकर्मा, लक्ष्‌मी प्रजापति, सुमित रानी, सहित अखंड नारी जागृति समिति की अन्य महिलाओं ने मिलकर सहयोग करते हुए गोशाला का दर्शन एवं निरीक्षण किया। सभी ने बीड़ा उठाया कि हम सभी गायों की सेवा करेंगे दिगंबर जैन समाज द्वारा गोशाला का निर्माण किया गया है जो एक सराहनीय कदम है।

------------------------------------------------------

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस