- दो दिन घंटों लाइन में लगने के बाद किसानों को मिला एक बोरी खाद

रहली। नवदुनिया न्यूज

देवरी, गढ़ाकोटा की तरह ही रहली में भी यूरिया के लिए किसानों को परेशान होना पड़ रहा है। खाद वितरण के दौरान बुधवार को किसानों की भीड़ को देखते हुए प्रशासन ने थाने से खाद की पर्ची बांटी। थाने में लाइन में लगकी र्पी लेने के बाद किसान गोदाम पहुंचे। यहां उन्हें एक बोरी यूरिया नसीब हुआ। पर्याप्त यूरिया नहीं मिलने से किसानों में आक्रोश है।

किसानों का कहना है कि वर्तमान में फसलों को यूरिया की बेहद आवश्यकता है, इस कारण किसान किसी भी कीमत पर यूरिया लेना चाहता है। किसानों ने बताया कि वे मंगलवार को भी खाद लेने आए, लेकिन भीड़ के चलते कम किसानों को ही खाद मिला। आज फिर यूरिया के लिए आए लेकिन दिनभर लाइन में लगने के बाद केवल एक बोरी ही खाद मिला। किसानों की भीड़ से हुई अव्यवस्था देख मंगलवार को खाद देने बंद कर दिया गया। बुधवार को दूसरे दिन उन्हें बुलाया, लेकिन आज कल से भी ज्यादा भीड़ रही। इसके चलते एसडीएम के निर्देश पर पुलिस थाने से यूरिया वितरण के लिए पर्ची बनाए जाने का कार्य हुआ। किसानों ने बताया कि दिनभर की मशक्कत के बाद किसी केवल एक-एक बोरी ही यूरिया मिला। जानकारी के मुताबिक 990 बोरी यूरिया बांटने के लिए दो दिन का समय लग गया। यूरिया के लिए लोग दिनभर कतार में लगे तब कहीं एक बोरी यूरिया मिला। खाद लेने के लिए पुरुषों के साथ-साथ कई महिलाएं भी आई थीं।

भीड़ के कारण थाने से बंटा यूरिया

अधिकारियों का कहना है कि किसानों की भीड़ को देखते हुए पर्ची बनाने का कार्य पुलिस थाना परिसर से किया गया। यहां पुलिस की सुरक्षा व्यवस्था होने से भीड़ काबू में रही। यदि गोदाम से ही पर्ची व खाद वितरण का कार्य होता तो किसानों की भीड़ को नियंत्रित करना मुश्किल हो जाता। यहां पुलिस की मौजूदगी में ही पर्ची बनाई गई। इसके बाद किसानों को खाद दिया गया। प्रत्येक किसान को आधार कार्ड के आधार पर एक बोरी यूरिया दिया गया। किसानों ने बताया कि उन्हें जरूरत के मुताबिक खाद नहीं मिल रहा है। यदि खाद की जरूरत 15 बोरी की है तो उन्हें एक बोरी ही खाद दिया जा रहा है। किसान वीरेंद्र सिंह का कहना है कि वर्तमान में यूरिया खाद की बहुत जरूरत है। यूरिया छिड़काव का समय बीता जा रहा है। यदि समय रहते फसलों को यूरिया नहीं मिला तो फसलें प्रभावित होंगी। किसानों ने बताया कि एक बोरी खाद मिला है, जिसे लेने के लिए दिनभर भूखे, प्यासे कतार में लगे रहे।

भाजपा कार्यकर्ताओं ने किया पानी व चाय का इंतजाम

यूरिया के लिए लाइन लगाए किसानों की परेशानी को देखते हुए भाजपा कार्यकर्ताओं ने पानी व चाय की व्यवस्था की। भाजपा मंडल अध्यक्ष अमित जैन के साथ कई कार्यकर्ताओं ने कतार में लगे किसानों को पानी पिलाया। कार्यकर्ता हाथ में पानी लेकर किसानों तक पहुंचे। चांदपुर के किसान दीपक कोतू एवं हरिराम का कहना है कि इस साल से जिस तरह यूरिया की समस्या बनी है, उससे किसान परेशान हैं।

किसानों को परेशानी से बचाने बनाई व्यवस्था

इस संबंध में एसडीएम शशि मिश्रा का कहना है कि मंगलवार को किसान दिनभर परेशान होते रहे। कई बार विवाद की स्थिति भी बनी। इसीलिए बुधवार को पर्ची बनाए जाने का कार्य पुलिस थाने से कराया गया। यहां से पर्ची बनने के बाद किसानों को गोदाम से खाद दिया गया। इस व्यवस्था से किसानों को परेशानी का सामना नहीं करना पड़ा।

0412 एसजीआर 156 रहली। यूरिया खाद के लिए किसानों की लाइन सड़क तक पहुंच गई थी।

0412 एसजीआर 157 रहली। किसानों से चर्चा करतीं एसडीएम व अन्य अधिकारी।

0412 एसजीआर 158 रहली। किसानों को चाय पिलाते भाजपा कार्यकर्ता।

..........

प्रमाण पत्र नहीं होने से डिफाल्टर मान रही सोसायटी, खाद के लिए परेशान

रहली। नवदुनिया न्यूज

खेत में फसल बो देने के बाद किसान यूरिया के लिए अब सोसायटियों और बाजार के चक्कर लगा रहे हैं। किसानों का कहना है कि उनका कर्ज भले ही माफ हो गया हो, लेकिन कर्जमुक्ति का प्रमाणीकरण सोसायटी को प्राप्त नहीं हुआ है। इस कारण सोसायटी किसानों को अभी कर्जदार ही मान रही है। जो सोसायटी का कर्जदार है उसे सोसायटी खाद नहीं दे रही है। किसानों का कहना है कि सोसायटी में खाद का स्टाक है लेकिन सोसायटी संचालकों का कहना है कि पहले हम अपने उन किसानों को खाद देंगे, जिन्होंने अपना कर्ज अदा कर दिया है। हमें नकद वितरण के आदेश नहीं है। खाद को भटक रहे किसान कह रहे हैं एक और सरकार कर्ज माफी की घोषणा किए जा रही है तो यह सोसाइटी सरकार की बात क्यों नहीं मान रही है। सरकार के इस दोहरे मान दंड से सभी किसान परेशान हैं। इससे अव्यवस्था और परेशानी बढ़ती जा रही है।

..........

राजस्व विभाग के अधिकारियों की लापरवाही से नहीं मिल रही किसान सम्मान निधि

पटनाबुजुर्ग। केंद्र सरकार द्वारा किसानों के लिए चलाई जा रही किसान सम्मान निधि योजना का पटनाबुजुर्ग सहित आसपास गांवों के किसान को लाभ नहीं मिला है। किसानों ने इसमें राजस्व विभाग पर लापरवाही का आरोप लगाया है। किसानों का कहना है कि पटवारियों ने किसानों से पंजीयन के फार्म एवं आवश्यक दस्तावेज तो ले लिए लेकिन अभी तक पंजीयन नहीं किए। किसान मोहन कुर्मी ने बताया कि मैंने 3 महीने पहले अपने पंजीयन के फार्म पटवारी को दे दिए थे। अब तक राशि नहीं आई। वर्तमान में एमपी आनलाइन वाले पंजीयन कर रहे हैं, जो 50 रुपए शुल्क ले रहे हैं। पंजीयन के लिए किसान घंटों लाइन लगाए खड़े रहते हैं। वहीं पहले पटवारियों को यही पंजीयन निशुल्क करना था। पटवारियों की गलती का खामियाजा किसानों को भोगना पड़ रहा हैं। किसानों का कहना है कि अभी तक दूसरे गांवों के किसानों को यह सम्मान निधि की दो-दो हजार रुपए की दो किस्त खातों में मिल चुकी है लेकिन हम अभी तक वंचित हैं।

.......................

बीना परियोजना व पठार जलाशय योजना को लेकर बांदरी में भाजपा का धरना-प्रदर्शन 10 को

बांदरी। नवदुनिया न्यूज

प्रदेश सरकार द्वारा विकास कार्य अवरूद्ध किए जाने के विरोध में खुरई विधायक व पूर्व गृह मंत्री भूपेंद्र सिंह के नेतृत्व में 10 दिसंबर मंगलवार की दोपहर 12 बजे से बांदरी में धरना-प्रदर्शन किया जाएगा। विधायक प्रतिनिधि श्री लखन सिंह ने भाजपा कार्यालय में आयोजित की गई बैठक में यह जानकारी दी। उन्होंने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि अति वर्षा से भारी तबाही हुई है, लेकिन कांग्रेस सरकार आपदा प्रबंधन नहीं कर पाई है और न ही सरकार की ओर से नागरिकों को कोई मदद मिल पाई है। कांग्रेस ने अपने वचन पत्र के वचनों को भी नहीं निभाया है। बांदरी की पठार जलाशय योजना व कॉलेज भवन निर्माण नहीं कराया जा रहा है। बीना नदी परियोजना भी ठंडे बस्ते में चली गई। खुरई विधानसभा क्षेत्र में जमकर गड़बड़ी हो रही है। बैठक में विधायक प्रतिनिधि लखन सिंह ने कहा कि धरना प्रदर्शन पूर्व कैबिनेट मंत्री भूपेंद्र सिंह के नेतृत्व में किया जाएगा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने अपने वचन पत्र के वचनों को भी नहीं निभाया है। जिससे मध्य प्रदेश की जनता एवं किसान समस्याओं से जूझ रहे हैं। प्रदेश की कांग्रेस सरकार की असलियत धीरे-धीरे अब सामने आने लगी है। किसानों को खाद नहीं मिल रहा है। बिजली कटौती और अधिक राशि के बिल आने से गरीबों को जीना दुश्वार हो गया है। केन्द्र सरकार ने एक हजार करोड़ की राशि प्रदेश सरकार को दी पर किसानों को यह राशि नहीं बांटी जा रही। श्री सिंह ने कहा कि विधानसभा चुनाव में प्रदेश के युवाओं को सब्जबाग दिखाते हुए वादा किया कि बेरोजगारों को पांच हजार प्रतिमाह बेरोजगारी भत्ता दिया जाएगा साथ ही युवाओं को बड़ी संख्या में सरकारी नौकरी देंगे, लेकिन प्रदेश सरकार ने आज तक कोई भी वायदा नहीं निभाया। विधायक प्रतिनिधि श्री सिंह ने कहा कि उनके कार्यकाल में पिछले पांच साल खुरई विधानसभा क्षेत्र में जो विकास कार्य हुए हैं वे सब आपके सामने हैं। भाजपा सरकार ने छात्र, नौजवान, गरीब, महिला, किशोरी वर्ग, किसान व व्यापारी वर्ग के कल्याण के लिए कई योजनाएं चलाई थीं। बैठक में बांदरी, मालथौन, बरौदियाकलां, रजवांस, पिठौरिया, झीकनी के अनेक भाजपा के कार्यकर्ता व गणमान्य नागरिक मौजूद रहे।

Posted By: Nai Dunia News Network