सागर(नवदुनिया प्रतिनिधि)। श्री गुलाब बाबा मंदिर के 13वें वार्षिक उत्सव में 4 दिसंबर को शहर में श्री गुलाब बाबा की चरण पादुका पालकी शोभायात्रा कोरोना महामारी के कारण नहीं निकलेगी। इस दौरान मंदिर में होने वाले अन्य कार्यक्रम भी शासन की गाइडलाइन के अनुसार ही होंगे। उल्लेखनीय है कि यहां होने वाले रंगारंग कार्यक्रम और भंडारे में करीब एक लाख श्रद्धालु शोभायात्रा और भंडारे में प्रसादी ग्रहण करने से लेकर अन्य कार्यक्रम में शामिल होते थे।

श्री गुलाब बाबा मंदिर सागर के वार्षिक उत्सव में इस वर्ष कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए मध्यप्रदेश शासन ने जो गाइड लाइन तैयार की है उसका पालन करते हुए ही सामान्य रूप से कार्यक्रम होंगे। मंदिर ट्रस्ट ने इस वर्ष वार्षिक उत्सव को सामान्य रूप में केवल मंदिर प्रांगण में आने वाले भक्तों के साथ मनाने का निर्णय लिया है। इस दौरान सभी कार्यक्रम के दौरान श्रद्धालुओं को शारीरिक दूरी का पालन व मुंह पर मास्क लगाना अनिवार्य किया गया है।

चार पहिया वाहनों से सीधे मंदिर आएगी पालकी

मंदिर के वार्षिकोत्सव की परंपरा भंग न हो इसलिए हर वर्ष की तरह पैदल-पैदल आने वाली गुलाब बाबा की चरण पादुका पालकी यात्रा 29 नवंबर को नरसिंहगढ़, दमोह से चारपहिया वाहनों से सीधे सागर मंदिर आएगी, जबकि पिछले वर्षों में पैदल-पैदल सैकड़ों भक्त पालकी यात्रा में शामिल होकर शहर भ्रमण करते हुए मंदिर पहुंचते थे। पालकी 29 से 3 दिसंबर तक मंदिर में विश्राम करेगी। 4 दिसंबर को मंदिर प्रांगण में पालकी पूजन और उपस्थित भक्तों को प्रसादी मिलेगी। 5 दिसंबर को पालकी पूजन, आरती, उपस्थित भक्तों की प्रसादी के साथ ही वार्षिक उत्सव का समापन होगा। 30 नवंबर से 5 दिसंबर तक प्रतिदिन संध्या आरती के बाद से भजन होंगे। मंदिर के प्रांगण के अंदर मुंह पर मास्क लगाएं बगैर आने की अनुमति नहीं होगी।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस