बीना (नवदुनिया नयूज)। भानगढ़ थानांतर्गत कंजिया गांव में सोमवार रात हुई हत्या का पुलिस ने शुक्रवार को खुलासा कर दिया है। पुलिस ने बताया कि वन विभाग की जमीन पर खेती करने के विवाद पर दौलतपुर गांव के छह लोगों ने योजना बनाकर ज्ञानसिंह यादव की हत्या की थी। पुलिस ने इनमें से पांच आरोपितों को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया, जहां से आरोपितों को जेल भेज गिया गया।

गौरतलब है कि सोमवार रात ग्राम कंजिया निवासी ज्ञानसिंह पिता अनरथ यादव (20) की अज्ञात लोगों ने हत्या कर दी थी। हत्या का खुलासा करने के लिए एसडी तरुण नायक, एएसपी विक्रम सिंह कुशवाहा और उदभान सिंह बागरी के मार्गदर्शन में टीम गठित की गई है। आगासौद थाना प्रभारी को मामले की जांच सौपी गई थी। टीम में बीना टीआइ कमल निगवाल भी शामिल थे। पुलिस को मौके पर मिले साक्ष्य और मृतक के परिजनों के बयानों के आधार पर दौलतपुर गांव के निरन उर्फ निरंज सिंह पिता खिलान सिंह लोधी (37), भगवान सिंह पिता लालाराम लोधी (35), किस्सू उर्फ रामकिशोर पिता जगन्नााथ लोधी (28), गोलू उर्फ कमल सिंह पिता अजबसिंह लोधी (27), प्रेमसिंह पिता बलराम लोधी (28) को हिरासत में लेकर पूछताछ की। इसमें आरोपितों ने बताया कि दौलतपुर गांव के पास वन विभाग की जमीन हैं। वह सालों से इस जमीन पर खेती कर परिवार का भरण पोषण करते आ रहे हैं। इस जमीन पर बाहुबल के दम पर ज्ञानसिंह यादव ने कब्जा कर लिया था। वह इस जमीन पर खेती करने लगे थे। यहां तक कि गाय, भैंस भी वन भूमि की जमीन पर चरने नहीं जा पा रहे थे। यदि जानवर पहुंच जाते थे तो वह गाली गलौज कर मारपीट करने की धमकी देते थे। इसके चलते पांचों आरोपित ने कल्लू उर्फ गंधर्व लोधी के साथ मिलकर हत्या की योजना बनाई थी। इसमें से कल्लू उर्फ गंधर्व फरार है।

टार्च से किया था इशारा

पुलिस पूछताछ में आरोपितों ने बताया कि सोमवार को हत्या की योजना बनाई गई थी। ज्ञानसिंह जैसे ही दौलतपुर गांव से निकला प्रेम लोधी और गोलू लोधी ने घर की छत से टार्ज जलाकर ज्ञानसिंह के निकलने का इशारा किया। बाकी के चार लोग कंजिया रोड के पास दौलतपुर गांव जाने वाले रास्ते में घाट लगाकर बैठे थे। जैसी पक्के रोड पर जाने के लिए ढलाने पर मोटर साइकिल की स्पीड कम की उसी समय निरंजन लोधी, भगवान सिंह, रामकिशन और गंधर्व लोहे के ऐंगल, लाठी, कुल्हाड़ी और कतरना से ज्ञान सिंह पर हमला कर दिया। सिर पर ताबड़तोड़ कई बार। इसके बाद हत्या को एक्सीडेंट का रूप देने के लिए शव खींच कर सड़क पर डाल दिया। लेकिन पुलिस ने साक्ष्यों के आधार पर आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया। आरोपितों को गिरफ्तार करने वाली टीम में भानगढ़ थाना प्रभारी लखन डाबर, कंजिया चौकी प्रभारी आनंद राय, प्रधान आरक्षक सत्येंद्र सिंह, आरक्षक सूरज, छोटेलाल, राकेश शामिल थे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local