बीना (नवदुनिया न्यूज)। पूर्वी रेलवे कॉलोनी में सफाई कर रही महिला कर्मचारी के ऊपर सुबह दो रेलवे क्वार्टर की बाउंड्रीवॉल गिर गई। मलबे के नीचे दबी महिलाकर्मी को अन्य कर्मचारियों ने निकाला और अस्पताल भर्ती कराया, जहां से उसे भोपाल रैफर कर दिया गया है। बीना रेलवे कॉलोनियों में बने ज्यादातर क्वार्टर वर्षों पुराने हैं और जर्जर हैं। अधिकारी इन पर ध्यान नहीं देते।

शुक्रवार की सुबह 10 बजकर 30 मिनट के आसपास रेलवे की महिला सफाईकर्मी मीना पत्नी हरिराम 50 वर्ष रेलवे क्वार्टर क्रमांक आरबी सेकंड 319 बीना व सी के समीप सफाई करा रही थी। इसी दौरान दो रेलवे क्वार्टर की बाउंड्रीवॉल उस महिला कर्मी के ऊपर गिर गई। मलबे के नीचे दबी सफाईकर्मी को वहां मौजूद अन्य सफाई कर्मचारियों ने देखा और बाहर निकाल कर रेलवे अस्पताल भर्ती कराया। जहां प्राथमिक उपचार देकर महिला को भोपाल रैफर कर दिया गया। महिला के पैर में फ्रेक्चर आया था।

दो कॉलोनियां, क्वार्टर वर्षों पुराने और जर्जर

बीना में रेलवे की दो कॉलोनियां हैं। जिनके क्वार्टर वर्षों पुराने हैं और जर्जर हैं। कई बार रेल यूनियनों द्वारा इन क्वार्टरों की मरम्मत के लिए अधिकारियों को पत्र लिखा जाता है। लेकिन अधिकारी ध्यान नहीं देते। वेस्ट सेंट्रल रेलवे मजदूर संघ के मंडल सचिव बीएल मिश्रा ने बताया कि यह घटना अधिकारियों की लापरवाही का नतीजा है। हमने कई बार वार्षिक बैठक के दौरान कर्मचारियों के आवासों से जुड़ी समस्याओं के बारे में बताया है। लेकिन अधिकारी ध्यान नहीं देते। वेस्ट सेंट्रल रेलवे एम्प्लाइज यूनियन के जोनल सहायक महासचिव संजय जैन के अनुसार हमारी यूनियन ने बार-बार क्वार्टर्स की बदहाली को लेकर बात रखी है।

50 साल से ज्यादा पुराने हैं क्वार्टर

पूर्वी रेलवे कॉलोनी में अधिकारियों व रनिंग स्टाफ के लिए बंगले व क्वार्टर बने हुए थे। जिन्हें 50 वर्ष से अधिक हो गए हैं। यहां 50 के आसपास बंगले व 600 से ज्यादा क्वार्टर्स हैं। पश्चिमी रेलवे कॉलोनी में बने क्वार्टर्स बीना में रेलवे की स्थापना के समय से हैं। हालांकि इनमें से कई जर्जर होकर स्वयं गिर गए हैं व कइयों को रेलवे ने खंडहर घोषित कर दिया है। फिलहाल 200 क्वार्टर ऐसे हैं जिनमें कर्मचारी निवास कर रहे हैं। जिस क्वार्टर की दीवार शुक्रवार को गिरी है यह क्वार्टर 30 से 35 वर्ष पुराने हैं।

- सालों पुराने हैं क्वार्टर

क्वार्टर सालों पुराने हैं, जर्जर हो चुके थे। सही जानकारी आपको आइओडब्ल्यू ही दे पाएंगे।

अरविंद कुमार, एडीइएन, बीना

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags