कलेक्टर करेंगे शुभारंभ, सभी विभागों के अधिकारी रहेंगे मौजदू

बीना (नवदुनिया न्यूज)।

जिला चिकित्सालय में संचालित ब्लड बैंक में ब्लड की कमी दूर करने के लिए प्रशासन की ओर से आज सिविल अस्पताल में रक्तदान शिविर लगाया जाएगा। शिविर को लेकर सभी विभागों के अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं कि वह ज्यादा से ज्यादा कर्मचारियों से रक्तदान कराएं। शिविर में 500 से ज्यादा लोगों से रक्तदान कराने का लक्ष्य है। बुधवार सुबह 11 बजे कलेक्टर दीपक सिंह शिविर का शुभारंभ करेंगे।

दरअसल सिविल अस्पताल में लगभग दो साल से हर महीने की पहली तारीख को रक्तदान शिविर आयोजित किया गया है। लेकिन कोरोना वायरस के चलते करीब 4 माह से शिविर आयोजित नहीं किया गया है। लेकिन लॉकडाउन खत्म होने के कारण शिविर प्रभारी डॉ. वीरेंद्र ठाकुर ने 1 जुलाई को रक्तदान शिविर के लिए एसडीएम अमृता गर्ग से स्वीकृति ली। उन्होंने न केवल शिविर आयोजित करने की स्वीकृति दे, बल्कि वह खुद इस शिविर को सफल बनने में जुट गईं। उन्होंने सभी विभागों के अधिकारियों से निर्देश दिए कि शिविर में वह अपने विभाग के स्वस्थ्य कर्मचारियों को रक्तदान के लिए के लिए लेकर आएं। खासतौर से जिनकी उम्र 18-40 वर्ष है। इस संबंध में उन्होंने सभी विभागों के अधिकारियों को पत्र जारी कर शिविर में 500 से ज्यादा कर्मचारियों को रक्तदान कराने का लक्ष्य दिया है। एसडीएम के लिखित आदेश का पालन करते हुए सभी अधिकारी अपने-अपने विभागों को कर्मचारियों को रक्तदान करान के लिए प्रेरित करने में लगे हुए हैं।

26 विभागों के अधिकारियों को लिखा पत्र

रक्तदान शिविर को सफल बनाने और 500 से ज्यादा यूनिट रक्त एकत्रित कर ब्लड बैंक सागर भेजने के लिए एसडीएम ने 26 विभागों के अधिकारियों को पत्र लिखा है। इसमें तहसीलदार, नपा सीएमओ, बीईओ, बीआरसीसी, जनपद सीईओ, पशु चिकित्सा अधिकारी, महिला बाल विकास विभाग, वन परिक्षेत्र अधिकारी, सहायक कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी, छात्रावास अधीक्षक, राजस्व निरीक्षक, उद्यानिकी विभाग, कॉलेज प्राचार्य, कार्यपालन यंत्री, जल संसाधन, लोक निर्माण विभाग, विकासखंड चिकित्सा अधिकारी, ग्रामीण यांत्रिकी सेवा, प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना, अनुविभागीय अधिकारी पुलिस, डिस्ट्रिक्ट कमांटेंड नगर सेना सागर शामिल हैं।

सिविल अस्पताल में तैयारी शुरू

बड़े स्तर पर आयोजित किए जा रहे शिविर को लेकर सिविल अस्पताल में मंगलवार की शाम तैयारी की गई है। रक्तदान करने वालों के लिए पलंग, कुर्सियां, टेंट सहित अन्य तैयारियों पर काम चल रहा है। खासतौर से कलेक्टर के शिविर में शामिल होने को लेकर भी बड़े स्तर पर तैयारियां चल रही हैं।

3006 एसजीआर 145 बीना। सिविल अस्पताल में लगने वाले शिविर को लेकर डॉ. वीरेंद्र ठाकुर ने अस्पताल के कर्मचारियों से हॉल कराया सैनेटाइज।

-------------------------------------------------------

युवा जागृति अभियान के 9वें दिन एनपीएस के विरोध में हस्ताक्षर कराए

बीना (नवदुनिया न्यूज)।

वेस्ट सेंट्रल रेलवे एम्प्लाईज यूनियन 22 जून से चलाया जा रहा युवा जागृति अभियान मंगलवार को 9वें दिन भी जारी रहा। 5 जुलाई से अभियान में जनप्रतिनिधियों को जोड़ा जाएगा। विंग के मंडल सचिव रवि राय ने बताया कि तीनों मंडल जबलपुर, कोटा, भोपाल में 22 से 30 जून तक युवा जागृति अभियान चलाना है। मंगलवार को यूनियन की सभी युवा शाखा के पदाधिकारियों ने मंडल के विभिन्ना कार्य स्थल पर जाकर रेल कर्मचारियों को संघर्ष में शामिल होने का संकल्प दिलाया। साथ ही नई पेंशन योजना समाप्त करने के लिए याचिका पत्र पर हस्ताक्षर कराए। रेल कर्मचारियों को नई पेंशन योजना की खामियों के बारे में भी बताया गया। अगले चरण में यूथ विंग द्वारा 5 जुलाई से 11 जुलाई तक यूथ टारगेट वीक मनाया जाएगा। इसमें एनपीएस के विरोध में चल रहे अभियान से जनप्रतिनिधियों को जोड़ते हुए केंद्र सरकार तक मांग पहुंचाई जाएगी। अभियान में संजय जैन, जॉर्ज सेमुअल, एस के निरंजन, काजिम जैदी, हरि मोहन, वासु यादव, केके राय, मनु यादव, मनीष रजक, मुकेश तिवारी, कलीम खान सहित अन्य शामिल रहे।

3006 एसजीआर 146 बीना। युवाओं ने एनपीएस के विरोध में हस्ताक्षर किए और नारेबाजी की।

-----------------------------------------------------------------------------------------------------

नवदुनिया फॉॅलोअप

तीन बच्चों की मौत के बाद गड्ढे को दिया नाले का रूप

लापरवाही

ब्रिज निर्माण के लिए पिलर बनाने नाले का पानी कर दिया था डायवर्ट

खोदे गए गड्ढे में डूबने से सोमवार को हुई तीन बच्चों की मौत

बीना (नवदुनिया न्यूज)।

पिलर के लिए खोदे गए गड्ढे में डूबकर हुई तीन बच्चों की मौत के बाद लोक निर्माण विभाग ब्रिज ने गड्ढे से पानी निकाल दिया है। यह गड्ढा पिलर के लिए नाले में बनाया गया था तथा नाले के पानी को डायवर्ट करने अलग से नाली खोद दी गई थी।

बीना-सागर रेल लाइन पर लोक निर्माण विभाग ब्रिज द्वारा ओवरब्रिज का निर्माण कराया जा रहा है। कार्य गुजरात की अमर कंस्ट्रक्शन कंपनी कर रही है। कंपनी ने पिलर के लिए सब्जी मंडी के पास से निकले नाले को डायवर्ट कर दिया था। साथ ही नाले में पिलर के लिए गड्ढा कर दिया था। दस माह से यह गड्ढा खुला पड़ा था और किसी तरह के सुरक्षा संकेत आसपास नहीं रखे गए थे। बारिश के दौरान गड्ढे में पानी भरा और तीन बच्चों की डूबने से मौत हो गई। घटना के बाद लोक निर्माण विभाग ब्रिज की एसडीओ साधना सिंह ने जेसीबी से गड्ढे का आधा पुराव कराया तथा गड्ढे में भरे पानी की निकासी के लिए उसे नाले से मिला दिया। इधर एसडीएम अमृता गर्ग ने घटना की जांच कर जिम्मेदार के विरुद्ध प्रकरण दर्ज करने के लिए पुलिस को पत्र लिखा है। पत्र में कहा गया है कि निप्पक्षता से जांच कर जिसकी भी लापरवाही सामने आए, उस पर आपराधिक प्रकरण दर्ज किया जाए।

3006 एसजीआर 147 बीना। घटना के बाद गड्ढे को नाले से मिला दिया गया है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना