सागर/बीना, नवदुनिया प्रतिनिधि। भुज-शालीमार साप्ताहिक एक्सप्रेस में बुधवार सुबह करीब 11 बजे बीना रेलवे स्टेशन पर दो माह का मासूम बच्चा लावारिश हालत में मिला है। सामान्‍य बोगी की सीट पर पड़ा-पड़ा बच्चा रो रहा था। बच्चे को रोता देख एक यात्री ने उसे जीआरपी के सुपुर्द कर दिया। जीआरपी ने सामाजिक संस्था 'आवाज' की मदद से बच्चे का स्वास्थ्य परीक्षण करने सिविल अस्पताल पहुंचाया, जहां से उसे चाइल्ड लाइन सागर भेज गया है।

बच्चे को जीआरपी पहुंचाने वाले यात्री ग्राम बरोदिया थाना बालाबेहट निवासी गोलू सेन ने बताया कि वह कटनी में मजदूरी करता है। ट्रेन क्रमांक 22829 भुज-शालामीर एक्सप्रेस से कटनी जाने के लिए वह स्टेशन पहुंचा था। ट्रेन करीब 10:55 बजे बीना स्टेशन पहुंची। वह ट्रेन में सबसे पीछे लगे सामान्य कोच में जाकर बैठ गया। इसी दौरान उसकी नजर सामने वाली सीट पर लेटे बच्चे पर पड़ी। उन्हें लगा कि बच्चे के माता-पिता आसपास होंगे, लेकिन काफी देकर तक कोई बच्चे के पास नहीं आया। थोड़ी देर बाद बच्चा जोर-जोर से रोने लगा, इसके चलते यात्री ने बच्ची को अपनी गोद में उठाकर कोच में सवार अन्य यात्रियों से बच्चे के बारे में पूछताछ की, लेकिन किसी को बच्चे के बारे में जानकारी नहीं थी। इसके चलते यात्री बच्चे को लेकर जीआरपी थाने पहुंच गया और पूरे मामले की जानकारी दी। मामला बच्चे से जुड़ा होने के कारण जीआरपी ने तुरंत सामाजिक संस्था 'आवाज' के सदस्यों को बुलाया और स्वास्थ्य पीरक्षण करने के लिए सिविल अस्पताल पहुंचाया।

भूख से बिलख रहा था बच्चा

बच्चे ने कई घंटों से मां को दूध नहीं पिया था, इसके चलते वह भूख से बिलख रहा था। डा. संजीव अग्रवाल ने स्वास्थ्य परीक्षण कर बताया कि बच्चा पूरी तरह से स्वस्थ्य है। काफी समय से बच्चे ने दूध नहीं लिया है इसलिए वह भूख के कारण रो रहा है। दूध पिलाने के लिए बच्चे को तुरंत एनआरसी (पोषण पुनर्वास केंद्र) में भेजा गया। एनआरसी की महिला कर्मचारियों ने बच्चे को दूध पिलाकर चुप कराया और उसे सागर चाइल्ड लाइन भेजने के लिए जीआरपी और संस्था आवाज के सदस्यों के सुपुर्द कर दिया। बाद में बच्चे को चाइल्ड लाइन सागर भेज दिया गया है।

माता-पिता की तलाश कर रहे हैं

बच्चे के माता-पिता की तलाश की जा रही है। जिन-जिन स्टेशनों पर भुज-शालीमार एक्सप्रेस का स्टापेज है, उन स्टेशनों पर सूचना दी गई है। लेकिन अभी तक कहीं से भी बच्चे के मिसिंग की खबर नहीं आई है। स्टेशन पर लगे सीसीटीवी कैमरों की फुजेट भी खंगाले जा रहे हैं।

- संतोष केरकेट्टा, उपनिरीक्षक, जीआरपी, बीना

Posted By: Ravindra Soni

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close