सागर(नवदुनिया प्रतिनिधि)।

युवा कल्याण, तकनीकी शिक्षा, कौशल विकास एवं रोजगार मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया ने शनिवार को सागर के केंद्रीय जेल पहुंचकर यहां कैदियों द्वारा संचालित किए जा रहे विद्यासागर हथकरघा केंद्र का निरीक्षण किया। उन्होंने कहा कि जेल में कैदियों द्वारा संचालित किया जा रहा कार्य अन्य जेलों के लिए भी अनुकरणीय है और जेल के अंदर सजायापता कैदियों का ऐसा अनुशासन क्रियाशीलता देखकर मैं निःशब्द हूं।

निरीक्षण के दौरान श्रीमती सिंधिया ने यहां उपस्थित हथकरघा से वस्त्र बनाने वाले कैदियों को संबोधित करते हुए कहा कि प्रत्येक मनुष्य में कुछ अच्छाइयां और कुछ कमियां होती हैं। कई बार उन कमियों के कारण मनुष्य गलती कर बैठता है, लेकिन प्रत्येक व्यक्ति को सुधार का मौका मिलना चाहिए। मौका मिलने पर व्यक्ति स्वयम में सकारात्मक परिवर्तन लाकर न केवल खुद के लिए बल्कि समाज के लिए भी अच्छा कार्य कर सकता है।

जेल के अंदर सकारात्मक ऊर्जा का एहसास

मंत्री सिंधिया ने निरीक्षण के दौरान हथकरघा केंद्र की प्रणेता सुश्री रेखा जैन, डॉ. नीलम जैन से हथकरघा के बारे में बारीकी से जानकारी ली। उल्लेखनीय है कि सागर केंद्रीय जेल के अंदर परिसर में स्थापित हथकरघा केंद्र में प्रशिक्षित कैदियों द्वारा हैंडलूम मशीन पर विभिन्ना प्रकार के वस्त्रों का निर्माण किया जाता है। इन वस्त्रों की बिक्री के लिए सद्भावना विक्रय केंद्र बनाया गया है। उन्होंने बताया कि आचार्य श्री विद्यासागर महाराज की प्रेरणा एवं मार्गदर्शन के फलस्वरूप किए जा रहे हथकरघा कार्य को और आगे बढ़ाएंगे। उन्होंने कहा कि यह साधु साध्वियों की तपस्या का ही परिणाम है कि जेल परिसर में इतनी सकारात्मक ऊर्जा का एहसास हो रहा है।

मुनिश्री प्रमाणसागर महाराज से मिली जानकारी, साड़ियों की बुनाई देखी

मंत्री सिंधिया ने केंद्रीय जेल मे हाथकरधा प्रशिक्षण केंद्र का निरीक्षण करते हुए कहा कि केंद्रीय जेल मे संचालित इस केंद्र की जानकारी से मुनि प्रमाण सागर महाराज से मिली थी जिसके बाद वह उन्होंने जेल मे संचालित इस हाथकरधा प्रशिक्षण केंद्र की व्यवस्था का जायजा लेने का निर्णय लिया। उन्होंने कहां यहां बनाए जा रहे सामान के प्रचार प्रसार के साथ इस तरह के कार्यो को अन्य जिलों में संचालित करने की जरुरत है, जिससे इसके माध्यम से कौशल विकास के उदेश्य पूरे हो इसके इसके लिए उन्होंने जल्द एक कार्ययोजना के तहत काम करने की बात कही। इस दौरान एक मांग पत्र भी दिया गया, जिसमें हथकरधा प्रशिक्षण केंद्र से प्रशिक्षण प्राप्त बंदियो की परीक्षा आयोजित कर शासकीय प्रमाणपत्र देने और उनके बुनकर कार्ड बनाने की मांग रखी गई। इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक अतुल सिंह, एडीजे जेल संजय पाण्डे, संतोष सोलंकी, नगर निगम आयुक्त आरपी अहिरवार, जिला पंचायत के सीईओ इच्छित गढ़पाले, नगर निगम उपायुक्त डॉ. पीके खरे उपस्थित थे।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस