सागर (नवदुनिया प्रतिनिधि)। नगरीय निकाय चुनाव के लिए सागर नगर के 48 वार्डों में 251 मतदान केंद्र बनाए गए थे। इन सभी मतदान केंद्रों पर सुविधाओं की कमी नजर आई। नवदुनिया ने मंगलवार को ही मतदान केंद्र का जायजा लेकर इस स्थिति को उजागर करते हुए वर्षा व धूप के चलते मतदान कर्मियों को होने वाली परेशानी की आशंका जाहिर कर दी थी, जो बुधवार को सच साबित हुई। बुधवार को सुबह से मौसम साफ रहा। वहीं कुछ बादल छाने व धूप निकलने से उर्मी व उमस से लोग परेशान रहे।

सुबह दस बजे जब पद्माकर स्कूल में बने मतदान केंद्र पर पहुंचे तो यहां कक्षों के बाहर मतदान पर्चियों को बांटने के लिए बैठाए गए मतदान कर्मी बहुत परेशान थे। महिला एवं बाल विकास विभाग की टीम यहां तेज धूप में बैठी रही। इनके लिए किसी भी तरह के टेंट या शामियाने की व्यवस्था नहीं की गई थी। यही हालत मतदान करने आए लोगों का था। यहां टेंट न लगाए जाने से यह धूप में गर्मी व शाम को वर्षा के बाद पानी से परेशान रहे। यही स्थित पं. मोतीलाल नेहरू माध्यमिक शाला का था। यहां परकोटा वार्ड के मतदाता मतदान कर रहे थे, लेकिन मतदाताओं के लिए कोई व्यवस्था नहीं थी। शाम को वर्षा आने पर मतदाता भींगते रहे। संत रविदास वार्ड के मतदान केंद्रों पर भी कोई सुविधा नहीं थी। यहां मतदान कर्मी परेशान हुए। विवेकानंद वार्ड के मतदान केंद्रों पर भी यही स्थिति थी। मतदान दलों का कहना है कि मतदान के नाम पर सरकार करोड़ों रुपये खर्च कराती है, लेकिन इस दिन ड्यूटी करने वालों का ध्यान नहीं रखा जाता। इससे बेहतर व्यवस्था तो पंचायत क्षेत्रों में हुए मतदान केंद्रों की थी, जहां बाहर टेंट बांधे गए थे। गांववालों ने तो स्वयं कई व्यवस्थाएं मतदान केंद्र पर ड्यूटी पर जाने से पहले ही कर दी थीं।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close