सागर (नवदुनिया प्रतिनिधि)। मकरोनिया क्षेत्र के आनंद नगर में मंगलवार को दिल दहला देने वाली घटना सामने अाई है। मकान के बाहर वाले गेट पर ताला लटक रहा था। मकान के अंदर से दुर्गंध आ रही थी। आसपास के लोगों ने शाम करीब पांच बजे मकरोनिया थाने को मकान से दुर्गंध आने की सूचना दी। पुलिस ने मौके पर जाकर दरवाजे में लगा ताला ताेड़ अंदर जाकर देखा तो हॉल से लगे कमरे में तीन शव बिस्तर पर पड़े थे। इस घटना से क्षेत्र के लोगों में सनसनी फैल गई। परिवार का एक सदस्य घटना के बाद से लापता है। संदेह है कि उसने ही खाने में जहर मिलाकर पिता, मां और छोटे भाई को मौत के घाट उतार दिया।

पुलिस के मुताबिक तीनों मृतकों की पहचान रामगोपाल पटेल उम्र 40 साल, उसकी पत्नी भारती उम्र 35 साल और पुत्र छोटू पटेल उम्र 16 साल के रूप में की गई है। मृतक रामगोपाल का बड़ा बेटा विकास तीन दिन से लापता है। घटना की सूचना मिलते ही एसपी अमित सांघी मौके पर पहुंचे।

एफएसएल टीम ने हॉल, कमरे आैर किचन की तलाशी ली, किचन में रखे तीन बर्तनाें में रबड़ी, खीर आैर गुड़ की चाशनी रखी पाई गई है। संदेह है कि विकास ने खीर या रबड़ी में जहर मिलाकर मां-बाप और छोटे भाई को खिलाया और मकान के मैनगेट पर ताला लगाकर भाग गया। शवों से दुर्गंध आने लगी थी, रंग काला पड़ गया था।

एसपी सांघी के मुताबिक कमरे से एक नोट लिखा पेपर मिला है। उसमें लिखा है मैंने जो कृत्य किया है वह क्षमा करने योग्य नहीं है, इसलिए मैं घर छोड़कर जा रहा हूं। पेपर की राइटिंग विकास की राइटिंग से मिलती है, संदेह है कि नाेट उसी ने लिखा होगा।

रिटायरमेंट के बाद गनमैन की नौकरी कर रहे थे रामगोपाल

रामगोपाल पटेल सेना में जवान थे, रिटायर होने के बाद उन्हाेंने आनंद नगर में गली क्रमांक तीन में प्लॉट लेकर मकान बनाकर रहने लगे थे। सेना से रिटायर होने के बाद छावनी परिषद में गनमैन की नौकरी करने लगे थे। दोनों बेटे आर्मी स्कूल में कक्षा 10वीं और 12वीं क्लास में पढ़ते थे। पड़ोस में रहने वाले लाेगों के मुताबिक रामगोपाल व उनका परिवार 25 जनवरी से देखा नहीं गया। मकान के दरवाजे पर ताला लगा होने से पड़ोसी समझे रिश्तेदार के घर गए होंगे। मंगलवार दोपहर बाद मकान से दुर्गंध आने के बाद पड़ोस के लोगों ने पुलिस को सूचना देकर बुलाया तो इस सनसनीखेज मामले का पर्दाफाश हुआ।

खीर व रबड़ी के सैंपल लिए

मौके पर पहुंची एफएसएल टीम ने घटना स्थल का निरीक्षण किया। किचन में जाकर देखा तो बर्तन में खीर, रबड़ी और गुुड़ की चाशनी रखी थी। टीम ने तीनोें के सेंपल लिए। खीर आैर रबड़ी का रंग नीला हो गया था। संदेह है कि इनमें जहर मिलाकर खिलाया हाेगा। सेंपलों की जांच में स्पष्ट होगा, जहर कितना तीव्र था। देरशाम पुलिस ने पंचनामा कार्रवाई कर तीनों शवों को पोस्टमार्टम के लिए मेडिकल कॉलेज की मर्चुरी में रखवा दिया है। घटना की सूचना परिजनों को दे दी गई है।

Posted By: Hemant Upadhyay

fantasy cricket
fantasy cricket