सागर (नवदुनिया प्रतिनिधि)। मध्य प्रदेश में 108 एंबुलेंस का संचालन करने वाली कंपनी जेएईएस ने एक डेटा जारी किया है। ये डेटा राज्य में हार्ट अटैक को लेकर है। कंपनी ने पिछले आठ माह में मिले हार्ट अटैक के मरीजों के बारे में बताया है। मध्य प्रदेश में सबसे अधिक 1986 हार्ट अटैक के मरीज सागर जिले में मिले हैं। जिन्हें एंबुलेंस की मदद से अस्पताल पहुंचाया गया है। इसके बाद 1238 मरीजों के साथ रीवा दूसरे और 1127 मरीजों के साथ तीसरे स्थान पर जबलपुर रहा। यदि भोपाल की बात करें तो आठ महीने में 490 मरीजों को एंबुलेंस ने अस्पताल में पहुंचाया। पूरे राज्य में आठ महीने के भीतर कुल 18 हजार 877 हार्ट अटैक के मरीजों को अस्पताल पहुंचाया गया है।

ठंड में 10 गुना बढ़ी हार्ट अटैक के मरीजों की संख्या

रिपोर्ट में कहा गया है कि गर्मी की अपेक्षा ठंड में मरीजों की संख्या 10 गुना बढ़ गई है। यदि दिसंबर की बात करें तो प्रदेशभर में जहां 3728 मरीजों को अस्पताल पहुंचाया गया। वहीं गर्मी के जून महीने में 1676 मरीज ही अस्पताल गए थे। 108 एंबुलेंस का संचालन करने वाली कंपनी ने हार्ट अटैक के दौरान निजी वाहन की जगह एंबुलेंस का इस्तेमाल करने की एडवाइजरी भी जारी की है। प्रदेश के आंकड़ों की बात करें तो पिछले दो माह में हार्ट अटैक के 15 फीसदी केस बढ़े हैं। प्रदेश में जहां मई में हार्ट अटैक के मरीजों की संख्या 630 थी, वहीं अक्टूबर माह में यह आंकड़ा बढ़कर 2807 और नवंबर में 2988 व दिसंबर में तीन हजार के पास तक पहुंच गया है।

सागर संभाग की यह स्थिति

सागर संभाग के तहत सागर के अलावा दमोह, छतरपुर, टीकमगढ़, निवाड़ी तथा पन्ना जिले आते हैं। जहां दमोह में 753, पन्ना 339, टीकमगढ़ एवं निवाड़ी में 315 तथा छतरपुर 433 मरीज आठ महीने के अंदर 84 कार्डियक अरेस्ट के सामने आए हैं।

हार्ट अटैक के दौरान एंबुलेंस का करें इस्तेमाल

108 एंबुलेंस का संचालन करने वाली कंपनी के सीनियर मैनेजर तरूण सिंह परिहार का कहना है कि प्रदेश में ठंड बढ़ने के बाद कार्डियक अरेस्ट केसों में बढ़ोतरी देखी गई है। मध्यप्रदेश में पिछले दो माह में करीब 15 फीसद केस बढ़े हैं। कार्डियक अरेस्ट के केस में मरीजों को हास्पिटल ले जाने के लिए निजी वाहन की जगह एंबुलेंस का प्रयोग करना चाहिए। इसमें सभी प्रकार के जीवनरक्षक उपकरण के साथ प्रशिक्षित मेडिकल कर्मचारी होते हैं, जो मरीज की जान बचाने में मदद करते हैं।

मध्य प्रदेश की स्थिति

मई - 630

जून - 1676

जुलाई - 2158

अगस्त - 2397

सितंबर - 2518

अक्टूबर - 2807

नवंबर - 2988

दिसंबर - 3728

कुल - 18877

सागर जिले में भर्ती किए गए मरीज

मई – 44

जून - 161

जुलाई - 236

अगस्त -289

सितंबर - 272

अक्टूबर - 326

नवंबर - 311

दिसंबर - 347

कुल मरीज - 1986

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close