- 69 डॉक्टरों का अनुबंध समाप्त, कोरोना अस्पताल पर गहराया संकट

सागर(नवदुनिया प्रतिनिधि)।

कोरोना काल में सरकार और शासन स्तर से लगातार की जा रही अनदेखी और हीलाहवाली का खामियाजा बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज और कोरोना मरीजों को भुगतना पड़ सकता है। कारण यह कि शासन ने कोरोना मरीजों की देखभाल में फ्रंट लाइन फाइटर की भूमिका निभा रहे 69 इंटर्न डॉक्टरों का अनुबंध नहीं बढ़ाया है। इससे आने वाले समय में कोरोना अस्पताल की व्यवस्थाएं ठप होने का अंदेशा है।

बीएमसी में मार्च महीने में 2014 बैच के इंटर्न्‌स को बतौर चिकित्सा अधिकारी ज्वाइन कराया था। इनके अलावा प्रदेश के निजी मेडिकल कॉलेजों से भी इंटर्न को बीएमसी में ज्वाइन करा दिया गया था। इनको 60 हजार रुपए तय वेतन पर तीन महीने के लिए रखा गया था। चूंकि यह सब कोरोना के तहत किया गया था, इसलिए तीन महीने बाद इनका अनुबंध आवश्यकता अनुसार आगे बढ़ाया जाना था, लेकिन शासन ने अनुबंध समाप्त होने के आखिरी दिन 30 जून तक इस संबंध में कोई आदेश-निर्देश जारी नहीं किए हैं। इस कारण बीएमसी प्रबंधन शासन के पूर्व के आदेश के तहत इनकी सेवाएं समाप्त मान लेगा। अनुबंध रिन्युअल के अभाव में सभी 69 डॉक्टर्स भी बुधवार से ड्यूटी करने को तैयार नहीं है, जिस कारण बीएमसी पर कोरोना में फ्रंट लाइन फाइटर के तौर पर ड्यूटी डॉक्टरों का संकट खड़ा होने वाला है। चूंकि यह डॉक्टर 24 बाय 7 के अनुसार बीएमसी के कोविड अस्पताल में एचडीयू, आईसीयू, एसआईसीयू, सारी वार्ड, डीसीएचसी सेंटर बीड़ी अस्पताल, ज्ञानोदय और एसवीएन आइसोलेशन सेंटर सहित फ्लू ओपीडी में सेवाएं दे रहे हैं, यदि ये बाहर हो गए तो यह सारी व्यवस्था ठप और चौपट हो जाएगी। मामले में बीएमसी प्रबंधन ने शासन-प्रशासन से मार्गदर्शन मांगा है। दूसरी और सागर विधायक शैलेंद्र जैन ने भी इस मामले में चिकित्सा शिक्षा विभाग और एनएचएम के आला अधिकारियों से संपर्क कर मामले में अनुबंध रिन्युअल कराने का प्रयास किया है, लेकिन शाम सात बजे तक यथास्थिति बनी थी।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना