बीना (नवदुनिया न्यूज)।

रेलवे स्टेशन पर कोरोना जांच के लिए सैंपल देने में यात्री परहेज कर रहे हैं। दूसरे शहरों से आने वाले यात्रियों सैंपल देने नाम समय न होने की बात कर निकल जाते हैं। वहीं दूसरी ओर जीआरपी थाने में स्टाफ कम होने के कारण स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों के साथ पुलिस की ड्यूटी नहीं लगाई जा रही है। इसके कर्मचारियों को 50 यात्रियों के सैंपल लेने में भी दिक्कत हो रही है।

रोज की तरह बुधवार को स्टाफ नर्स सहित स्वास्थ्य विभाग के तीन कर्मचारी रेलवे स्टेशन पर यात्रियों के सैंपल लेने पहुंचे थे। दोपहर करीब 1 बजे प्लेटफार्म पर नंबर रीवा-इंदौर एक्सप्रेस पहुंचे। ट्रेन से दर्जनों यात्री उतरकर बाहर आए। गेट के पास बनाए गए बूथ पर बैठे स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों ने सैंपल लेने के लिए कई यात्रियों को रोका। लेकिन यात्री सैंपल देने के लिए राजी नहीं हुई। कई यात्रियों ने कहा कि उनके पास समय नहीं तो कुछ ने साफ कह दिया कि उन्हें सैंपल नहीं देना। इसी तरह दक्षिण एक्सप्रेस से उतरकर गई यात्री स्टेशन के बाहर निकलने। इनमें बामुश्किल 5 यात्री सैंपल देने के लिए तैयार हुए। ज्यादातर यात्री जल्दी जाने का बहाना बनाकर निकल गए। स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों ने इसकी सूचना जीआरपी को देकर मदद मांगी। उन्होंने जीआरपी स्टाफ की ड्यूटी लगाने की मांग की है। लेकिन स्टाफ की कमी और अधिकारियों के निरीक्षण का हवाला देकर जीआरपी ने स्टाफ की ड्यूटी लगाने से मना कर दिया। इसके चलते कर्मचारियों को 50 यात्रियों के सैंपल लेने में परेशानियों का सामना करना पड़ा।

रोज लिए जा रहे हैं 50 सैंपल

बड़े शहर से आने वाली यात्रियों के सैंपल लेने के लिए कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई गई है। स्टेशन से रोज करीब 50 यात्रियों के सैंपल लेकर जांच के लिए सागर भेजा जा रहे हैं। इसके अलावा रजिस्टर में यात्रियों को नाम पता, मोबाइन नंबर लिखा जा रहा है, ताकि रिपोर्ट पाजिटिव आने पर उन्हें सूचना दी जा सके। लेकिन यात्री सहयोग नहीं कर रहे हैं, जिससे कर्मचारियों को सैंपल दिक्कत हो रही है।

19 बीना एसएए18- रेलवे स्टेशन के बाहर यात्रियों के सैंपल लेते स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local