सागर (नवदुनिया प्रतिनिधि)। गनयारी गांव में अजा वर्ग के दूल्हे की घोड़े पर बरात निकलने के बाद हुए उपद्रव के विरोध में मंगलवार को भीम आर्मी ने बंडा नगर के बरा चौराहे पर प्रदर्शन किया। प्रदर्शन को देखते हुए बंडा अनुविभाग के अलावा जिले के अन्य थानों की पुलिस अलर्ट रही। सुबह से ही बंडा नगर पूरी तरह छावनी में तब्दील नजर आया। बंडा नगर के कोने-कोने में पुलिस नजर आ रही थी। वहीं दोपहर 12 बजे के बाद भीम आर्मी ने बंडा पहुंचकर बरा चौराहे पर अपना विरोध प्रदर्शन किया। हालांकि पुलिस के भारी संख्या में तैनात होने की वजह से किसी तरह की स्थिति नहीं बिगड़ी। बरा चौराहे पर विरोध दर्ज कराने के बाद भीम आर्मी के लोग पुलिस थाने पहुंचे, जहां आरोपितों पर कार्रवाई किए जाने की मांग को लेकर ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में कहा गया कि गत दिनों गनियारी में जो निंदनीय घटना हुई है उसे पूरा समाज आक्रोशित हैं। हम प्रशासन से मांग करते हैं कि इस घटना में लिप्त सभी आरोपितों की यथा शीघ्र गिरफ्तारी की जाए एवं भविष्य में ऐसे घटना ना हो। उन्होंने कहा कि आरोपितों ने परिवार के साथ जो मारपीट की एवं वाहनों में तोड़फोड़ की वह निंदनीय है। वहीं पीड़ित के घर की लाइट काट दी गई गांव में स्थित संत रविदास मंदिर पर पथराव किया एवं तोड़फोड़ की गई। ऐसे आरोपितों को सख्त से सख्त सजा दी जाए। उन्होंने कहा कि प्रशासन ग्राम स्तर पर समितियां गठित कार जागरूकता अभियान चलाएं, जिससे वर्ग संघर्ष की स्थिति पैदा ना हो। परिवार क्षतिपूर्ति राशि प्रदान की जाए। उन्होंने कहा कि एसडीओपी के फोन लगाने के बावजूद जो लाइनमैन लाइट जोड़ने नहीं आया, उसे तत्काल सेवा से बर्खास्त किया जाए। वहीं संपूर्ण जिले में जगह-जगह है रविदास मंदिर में तोड़फोड़ की जाती है एवं महापुरुषों की मूर्तियां तोड़ी जाती है। इसे रोकने के लिए प्रशासनिक स्तर पर उचित प्रयास किए जाएं। हम किसी जाति या वर्ग विशेष का विरोध नहीं करते क्योंकि अपराधी की कोई जाति नहीं होती हैं। हम ओबीसी, एससीएसटी एकता का समर्थन करते हैं। सामूहिक बैठक आयोजित की जाएं। सभी सामाजिक संगठनों की प्रशासनिक स्तर पर बंडा विधानसभा के आसपास सभी ग्रामों में विशेष जागरूकता अभियान चलाया जाए, क्योंकि इस प्रकार की जातिवादी घटनाएं अधिकतर इसी क्षेत्र में होती हैं। इसलिए क्षेत्र के पुलिस एवं प्रशासनिक अधिकारियों को विशेष रूप से सामाजिक समरसता बनाए रखने के लिए प्रयास करे। उन्होंने कहा कि दो साल में बिचपुरी, राख्सी, अदबलिया में यह घटनाएं हो चुकी हैं। अब गनयारी गांव में इस तरह की घटना होना दुर्भाग्य पूर्ण है। ज्ञापन सौंपने वालों में भीम आर्मी के जिला अध्यक्ष धर्मेंद्र अहिरवार, नरेंद्र सिंह सूर्यवंशी, अंबर बाल्मिकी, रमेश अहिरवार, पूरनलाल अहिरवार, रोशन अनुरागी, कमलेश अहिरवार, यशवंत अहिरवार आदि मौजूद थे।

..............................

सागर में भी अहिरवार संघ ने सौंपा ज्ञापन

सागर। अहिरवार समाज संघ जिला सागर ने भी सागर में बंडा तहसील के के गनयारी में हुई घटना के विरोध में ज्ञापन सौंपा। यह ज्ञापन संघ के अध्यक्ष इंजी. रामप्रसाद चौधरी के नेतृत्व में सौंपा गया। ज्ञापन में लेख किया गया कि अहिरवार समाज के दूल्हे को घोड़ी पर चढ़ने से लोधी समाज के लोगों ने रोका तथा महिलाओं और बच्चों को पीटा यह निदंनीय है। उन्होंने कहा कि अहिरवार समाज के पीड़ित परिवार को न्याय दिलाया जाए व वाहनों में हुई तोड़ फोड़ की भरपाई की जाए। ज्ञापन सौंपने वालों में अहिरवार समाज संघ भारत के प्रांतीय सचिव शंकरलाल अहिरवार, एचडी अहिरवार तथा जिलाध्यक्ष इंजीनियर रामप्रसाद चौधरी, जिला उपाध्यक्ष घनश्याम सूर्यवंशी, एमएल चौधरी एवं अन्य पदाधिकारी मौजूद थे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local