खुरई। प्राचीन जैन मंदिर में मुनिश्री प्रभातसागर महाराज ने धर्मसभा को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि आगम वाणी पूर्वाचार्यों से धर्मोपदेश के रूप में चली आ रही है, यह जिनवाणी कहलाती है। पहले मुनि धर्म का उपदेश प्रदान करें फिर सामर्थ्‌य न हो तो उसे श्रावक धर्म का उपदेश दें। मुनि ही मोक्ष की इच्छा रखने वाला पापों से मौन रहने वाला, स्व स्वभाव में रहने वाला, निज तत्व को जानने वाला स्वकल्याण में तत्पर रहने वाला, इसे ही ऋषि कहते हैं, जो कर्मों के ऋणों से मुक्त होता है, वही वास्तव में ऋषि है। इसे यती भी कहते हैं। मुनिश्री ने कहा कि श्रावक अपनी योग्यता से श्रावक का धर्म का पालन करके भी मुनिधर्म को प्राप्त कर मोक्षमार्ग प्रशस्त कर सकता है। बिना मुनि बने मोक्षमार्ग अर्थात मोक्ष संभव नहीं है। वास्तव में मार्ग तो यही है। मोक्षमार्ग का उपदेश देने वाले वक्ता गली-कूचे में मिल जाएंगे।

----

ब्लाक स्तरीय खेल महोत्सव का समापन

खुरई। नेहरू युवा केंद्र संगठन द्वारा ब्लॉक स्तरीय खेल महोत्सव का आयोजन आरएलएम कॉलेज में हुआ। इसमें लगभग 200 युवा विद्यार्थियों ने भाग लिया। इसमें कबड्डी में महाकाल क्लब प्रथम, गुरूकुल स्कूल द्वितीय स्थान पर कबड्डी बालिका में उत्कृष्ट विद्यालय प्रथम स्थान, महाकाल क्लब द्वितीय स्थान पर रहा। खो-खो बालक वर्ग में गुरूकुल प्रथम, आरएलएम द्वितीय, खो-खो बालिका क्लब में गुरूकुल स्कूल प्रथम, पुत्री शाला स्कूल द्वितीय स्थान पर रही। वहीं 100 मीटर दौड़ में अजय कुर्मी प्रथम, हेमंत द्वितीय, नितिन कुर्मी तृतीय रहे। 100 मीटर बालिका वर्ग में चंचल राजपूत प्रथम, कविता जोगी द्वितीय, आकाश दांगी तृतीय, 200 मीटर दौड़ बालक वर्ग में विकास कुर्मी प्रथम, समीर खान द्वितीय, हेमंत साहू तृतीय रहे। इसी तरह 200 मीटर बालिका वर्ग में चंचल राजपूत प्रथम, निकिता द्वितीय, रुचि कुर्मी तृतीय स्थान पर रहीं। पुरस्कार वितरण समारोह में मुख्य अतिथि डॉ. प्रमोद नायक, समाजसेवी मनोज चौबे, मनोज सोनी, केके उपाध्याय ने विजेताओं को पुरस्कार वितरित कर प्रोत्साहन किया। इस अवसर पर रविन्द्र खाटोल, आमिर खान, आदित्य ताम्रकार, आकाश बिल्थरे, प्रशांत तिवारी, जुबेर खान आदि मौजूद रहे।

Posted By: Nai Dunia News Network