सागर। बुंदेलखंड के साथ भाजपा सरकार सौतेला व्यवहार कर रही है। बुंदेलखंड पैकेज के नाम पर हजारों करोड़ रूपए की धनराशि के गबन के पुख्ता प्रमाण सीएजी रिपोर्ट सहित मप्र सरकार की स्वयं की जांच एजेंसियो में सामने आए, मगर बंदरबांट के चलते दोषी खुलेआम घूम रहे हैं।

यह बात मप्र कांग्रेस विचार विभाग के चेयरमेन भूपेंद्र गुप्ता ने कही। उन्होंने कहा कि बुंदेलखंड का संभागीय मुख्यालय सागर एक प्रकार से आर्थिक राजधानी है। उसके बावजूद प्रदेश सरकार द्वारा एक दशक पूर्व शुरू किए गए मेडिकल कॉलेज में आज भी चिकित्सा की आवश्यक अर्हताएं पूरी नहीं हो पा रही हैं। सरकार की नीयत है कि पुराने उधार के अधोसंरचना के नाम पर मेडिकल का नाम बना रहे। उन्होंने मेडिकल के उन्नायन और विभिन्ना विभागों के लिए फैकल्टी सहित अधोसंरचना विकास हेतु अतिरिक्त पैकेज की घोषणा की मांग की है। उन्होंने डी मर्जर के निर्णय की सागर की जनता की जीत बताया है।

Posted By: