बंडा। नेमिगिरी नेमीनगर में आचार्यश्री दयासागर महाराज ने प्रवचन दिए। उन्होंने कहा कि मकर संक्रांति का पर्व हमारे अंतरंग-बहिरंग के मलों को धोने के लिए आया करती है। संक्रांति के दिन आज-कल लड्डू खाना घूमना, मेला-ठेला करना यह सब तो एक मनोरंजन है। वास्तव में अंतरंग में सर्दी के दिनों में आप नाना प्रकार से पूड़ी पकौड़ी आदि खाते है। सर्दी के दिनों में भूख अधिक लगने के कारण खा कर सो जाते है, इसीलिए सक्रांति के दिन विशेष रूप से खिचड़ी का दिन कहा जाता है, इस दिन विशेष रूप से खिचड़ी खाना और खिचड़ी खिलाना चाहिए, क्योकि खिचड़ी खाने से पेट का सारा कचरा गंदगी साफ हो जाती है। शरीर हल्का महसूस होता है और बहिरंग में सर्दियों के दिनों में इंसान नहाने का आलस करता है, और थोड़ी सी धूप मिलने पर खाना खाकर धूप में बैठ जाता है। नहाना नहीं और धूप में बैठना, यह दोनों ही शरीर को गंदा करते हुए मल से ओत-पोत करते हुए सुंदर से सुंदर व्यक्ति को भी काला महसूस कराते हैं। इसलिए संक्रांति के दिन संसारी प्राणियों के लिए तेल, हल्दी, तिल आदि से शरीर को मलमल कर उसके उपरांत नदी तालाब आदि में डुबकी लगाना चाहिए। इससे सारा मल साफ हो जाता है और शरीर सुंदर स्वरूप में दिखाई देने लगता है। इसलिए संक्रांति को डुबकी का दिन भी कहते हैं, लेकिन जिन सिद्धांत कहता है कि अंतरंग एवं बहिरंग के पापों का नाश करने के लिए अपने आप को दान-पुण्य, पूजा, पाठ इत्यादि में लगाएं। यह दान, पुण्य, पूजा-पाठ ही हमारे अंतरंग-बहिरंग के पापों को नाश करते हुए अपने जीवन को सुंदर स्वरूप बनाते है। जैन धर्म काया-माया को नहीं देखता है। जैन धर्म में तो वास्तव में परम पुण्य के साधनों को खोज कर उन साधनों को स्वीकार कर अपने जीवन को सफल बना लिया करते हैं, इसीलिए कई जगह देखते हैं कि संक्रांति के दिन अनेक भव्य आत्माएं अनेक प्रकार से दान आदि करके अपने जीवन को सफल बनाते हैं और अंतरंग-बहिरंग मलों का विसर्जन कर परम पद को प्राप्त करते हैं।

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020