लीड- पेज 2

- सागर को पानी की पूर्ति के लिए 24 घंटे खुले आसमान के नीचे काम में जुटे आधा दर्जन कर्मचारी।

- किसी के चेहरे की त्वचा पर सूजन तो किसी के शहरी में निकल आए दाने, रंग भी बदल गया।

सागर। नवदुनिया प्रतिनिधि

भीषण गर्मी और 45-46 डिग्री तापमान में जब निगम के आला अधिकारी एसी चैम्बरों और कारों से बाहर नहीं निकलते ऐसे में नगर निगम के जलप्रदाय विभाग के आधा दर्जन से अधिक छोटे कर्मचारी राजघाट बांध में पानी लिफ्टिंग की व्यवस्था में जुटे हैं। खुले आसमान के नीचे चिलचिलाती धूप में शरीर का ख्याल छोड़ अथक मेहनत में जुटे इन कर्मचारियों की चमड़ी तेज धूप के कारण जल गई, स्किन काली पड़ने के साथ-साथ फंगल इंफेक्शन हो गया। शरीर पर धूप और पसीने का इंफेक्शन होने से दाने उभर आए। बावजूद इसके कर्मचारी पिछले एक महीने से 24 घंटे काम में जुटे हैं।

राजघाट में पिछले एक महीने से जलप्रदाय विभाग के अधीन काम करने वाले कर्मचारी मडपम्पों की फिटिंग, बिजली लाइन बिछाने, पाइप लाइन वेल्डिंग कर पम्प से चैम्बर तक बिछाने और पानी लिफ्टिंग के काम में लगातार जुटे हुए हैं। इंजीनियर भी इनके साथ मॉनीटरिंग और व्यवस्था कर रहे हैं। बीच में पड़ी भीषण गर्मी और 47 डिग्री तापमान के दौरान भी डैम की तलहटी में लगातार खुले आसमान के नीचे तपती दोपहरी में काम करने के कारण कई कर्मचारी बीमार हो गए। इनमें कुछ कर्मचारियों के चेहरे और कंधे सहित हाथ-पैरों की चमड़ी झुलस गई, रंग काला पड़ गया और फंगल इंफेक्शन हो गया। शरीर को राहत देने व इलाज के नाम पर इनको केवल गीली मिट्टी का सहारा मिल पा रहा है।

पूरे शरीर पर लाल दाने उभर आए, हाथ भी चोटिल

जलप्रदाय विभाग के तहत राजघाट पर तैनात संभवत सबसे उम्रदराज कर्मचारी रामलाल अहिरवार का मूल पद तो वैसे फिटर का है, लेकिन ये डैम की चौकीदारी से लेकर वाटर लेवल चैक करने, सुरक्षा, फिल्टर हाउस के तमाम काम संभालते हैं। पिछले एक महीने के दौरान रामलाल मजदूर की तरह काम कर रहे हैं। कभी पानी के अंदर पम्प डालने तो कभी खुदाई कराने तो कभी नहर में गहराई नापने का काम कर रहे हैं। चिलचिलाती धूप के कारण इनकी स्किन पर जलन होने के साथ ही फफोले पड़ गए। चेहरे, गर्दन, कंधे, पीठ, छाती सहित जांघों में लाल-लाल दाने उभर आए हैं। गुरुवार को रामलाल को जेबीसी के पंजे का धक्का भी लग गया और कंधे में चोट लग गई, बावजूद शुक्रवार को वे काम में जुटे हुए थे।

चेहरे पर फफूंद जैसे स्पॉट उभर आए

निगम में पिछले तीन दशकों से लीकेज प्रभारी का काम संभाल रहे पम्प चालक अकील खान इस विभाग की मास्टर चाबी है। तमाम कामों में वे सबसे आगे आकर जिम्मेदारी निभा रहे हैं। राजघाट बांध में पम्प पहुंचाने से लेकर पानी लिफ्ट कराने व पोकलेन से खुदाई, वेल्डिंग सहित ऐसा कोई काम नहीं जो अकील खान न करा रहे हों। खुले आसमान के नीचे धूप में काम करते हुए अकील के वैसे तो पूरे शरीर की चमड़ी जलन कर रही है, लेकिन उनके चेहरे पर सबसे ज्यादा धूप का रिएक्शन हुआ है। अकील के माथे, आंखों के चारों तरफ, गालों पर पिछले हफ्ते फंगल इंफेक्शन के कारण सूजन आ गई, फफूंदनुमा इंफेक्शन हो गया। उनके सीनियर ने एक ट्यूब लाकर दिया, दो दिन में उन्हें हल्का आराम लगा है।

करंट के खतरे में इनकी जान, फिर भी जुटे

निगम के प्रकाश विभाग के कर्मचारी व इलेक्ट्रिशियन प्रकाश राजपूत और उनके साथी बलदेव पांडेय भी लगातार डैम में पानी की व्यवस्था जुटाने में तन-मन से जुटे हुए हैं। ट्रांसफॉर्मर से हाईटेंशन लाइन की केबल बिछाने, पम्पों के पूरे कनेक्शन को मेनटेन करने, एक-एक प्वाइंट पर बिजली दुरस्त करने, लाइनों के कट सुधारने, साथियों को करंट से बचाने, पम्पों को केबिल से कनेक्शन देकर पानी में उतारने और पानी में करंट न फैल जाए, इसके लिए एक-एक मिनट नजर रख रहे हैं। प्रकाश के हाथों में भी स्किन एलर्जी होने लगी है।

बेटे का ऑपरेशन कराकर तुरंत लौट आए

निगम में जलप्रदाय विभाग के प्रभारी व सहायक इंजीनियर राजकुमार बिल्थरिया और सब इंजीनियर रामाधार तिवारी भी दिन में कई-कई घंटे राजघाट में गुजार रहे हैं। तकनीकि समस्या और सामग्री उपलब्ध कराने से लेकर पानी की व्यवस्था के लिए तकनीकि काम पर लगातार मॉनीटरिंग और काम कर रहे हैं। उपयंत्री रामाधार तिवारी के बेटे का पिछले दिनों मुम्बई में ऑपरेशन होना था। वे ऑपरेशन कराने के बाद परिजनों को बेटे के पास छोड़कर वापस आ गए, ताकि उनकी अनुपस्थिति में कहीं कोई परेशानी सामने न आए।

यह सही है धूप से फंगल इंफेक्शन होने लगा है

राजघाट में हमारे कर्मचारी और इंजीनियर पानी लिफ्ट करने के लिए जी-जान से जुटे हुए हैं। कर्मचारियों अथक मेहनत कर रहे हैं। तेजधूप और गर्मी के कारण उनको स्किन एलर्जी हो गई है। फंगस और दाने उभर आए हैं। उनको मेडिसिन व इलाज की व्यवस्था की जा रही है। कर्मचारी इस दौरान चोटिल भी हो जाते हैं, बावजूद इसके कोई छुट्टी पर नहीं गया। कर्मचारी पूरी ईमानदारी से काम कर रहे हैं।

- डॉ. प्रणय कमल खरे, उपायुक्त, नगर निगम सागर।

---------------------------------

फोटो- 1406 एसए- 3 सागर। राजघाट बांध में नहर गहरीकरण और पानी लिफ्टिंग में जुटे निगम के अधिकारी, इंजीनियर और कर्मचारी।

फोटो- 1406 एसए- 4, 5 सागर। रामलाल अहिरवार पूरे शरीर में धूप-गर्मी से चमड़ी झुलस गई और दाने-दाने उभर आए।

फोटो- 1406 एसए- 6 ,4 सागर। अकील खान के चेहरे से लेकर पैर तक में फंगल इंफेक्शन से सूजन आ गई और जलन होने लगी।