सागर(नवदुनिया प्रतिनिधि)।

डॉ. हरीसिंह गौर विश्वविद्यालय के मानव संसाधन विकास सेंटर और प्राणी विज्ञान विभाग के संयुक्त तत्वावधान में रिसर्च मेथोडोलॉजी फ़ॉर साइंस विषय पर केंद्रित छह दिवसीय शॉर्ट टर्म कोर्स का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के समापन समारोह में मुख्य अतिथि भैषजिक विज्ञानी प्रो. एसपी व्यास ने वर्तमान कोविड काल में रिसर्च की महती आवश्यकता पर बल देते हुए नई पीढ़ी को शोध की बारीकियों से परिचित कराया। उन्होंने डीएनए बार कोडिंग को आवश्यक बताते हुए इसके माध्यम से टेक्सोनोमी पर शोध की आवश्यकता पर ोर दिया।

कुलपति प्रो. जेडी आही ने कोर्स के महत्व को प्रतिपादित करते हुए प्रतिभागियों सहित आयोजकों को बधाई दी। कोर्स को-ऑर्डिनेटर प्रो. वर्षा शर्मा ने छह दिन में सम्पन्ना व्याख्यानों, विषय विशेषज्ञों एवं गतिविधियों पर विस्तारित जानकारी दी। इस शॉर्ट टर्म कोर्स में जूलाजिकल सर्वे आफ इंडिया देहरादून के वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉ. वीएम सतीश कुमार ने डीएनए बार कोडिंग, दिल्ली से प्रो. गूजर ने पेस्ट मैनेजमेंट, भोपाल से प्रो. अर्चना तिवारी एवं प्रो. प्रवीण तामोट ने सायटेसन इंडेक्स, डाटा कलेक्शन, इमपेक्ट फेक्टर और वैज्ञानिक शोध में कम्प्यूटर के प्रयोग पर संवाद किया। सागर के प्रो. उमेश पाटिल ने औषधीय पौधों एवं डॉ. अश्विनी कुमार ने शोध में उपकरणों की उपियोगिता के संदर्भ में चर्चा की। जबलपुर के प्रो. एसएस सिंधु और प्रो. दिव्या बा.गची ने शोध के विभिन्ना पहलुओं, आयामों और उपियोगता पर व्याख्यान दिया। डॉ. पायल महोबिया ने स्वागत वक्तव्य दिया। छह दिवसीय इस महत्वपूर्ण कार्यक्रम में देश भर से 55 प्रतिभागी और 22 विषय विशेषज्ञों ने शिरकत की।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस