सागर (नवदुनिया प्रतिनिधि)। मप्र अधिकारी, कर्मचारी संयुक्त मोर्चा के बैनर तले सभी शासकीय कर्मचारी एकजुट होकर शासन से आरपार की लड़ाई करने का मन बना चुके हैं। इसमें प्रदेश स्तर की बैठक के उपरांत विभिन्ना जिलास्तरों पर आज बैठकें हुईं। सागर जिले की बैठक के उपरांत जिला संयोजक आलोक गुप्ता ने मोर्चे की रणनीति को स्पष्ट करते हुए कहा कि हम अपनी 5 सूत्रीय मांगों को लेकर 4 चरणों में अपने आंदोलन को पुनः शुरू कर रहे हैं। इस बार हम अपना हक लेकर ही मानेंगे। उन्होंने कहा कि हमें ऐसा प्रतीत होता है कि शासन हमारे आर्थिक हितों के प्रति संवेदनशील नहीं है, इसलिए मजबूरन हम आंदोलन की रास्ता अख्तियार करने के लिए बाध्य हैं। मोर्चा के जिला अध्यक्ष चूरामन रैकवार ने कार्यक्रम को स्पष्ट करते हुए बताया कि समस्त अधिकारियों कर्मचारी 28 सितंबर 2021 को अपनी मांगों से संबंधित ज्ञापन मुख्यमंत्री को संबोधित करते हुए तहसील स्तर पर तहसीलदार को देंगे। साथ ही स्थानीय विधायक को भी ज्ञापन दिया जाएगा। इसके बाद 8 अक्टूबर 2021 दिन शुक्रवार को इसी संदर्भ का ज्ञापन मुख्य सचिव मुख्य को संबोधित करते हुए कलेक्टर महोदय को दिया जाएगा। तीसरे चरण में 22 अक्टूबर 2021 दिन शुक्रवार को प्रदेश व्यापी एक दिवसीय धरना मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में आयोजित कर मुख्य सचिव को संबोधित ज्ञापन दिया जाएगा। यदि इतने पर भी शासन की संवेदना हमारे प्रति जागृत नहीं होती है तो 28 अक्टूबर एवं 29 अक्टूबर को जिले के सभी कार्यालयों एवं सभी विभागों के अधिकारी, कर्मचारी सामूहिक अवकाश लेकर अनिश्चितकालीन हड़ताल पर रहेंगे बैठक में संयोजक आलोक गुप्ता, जिला अध्यक्ष चूरामन रैकवार, सागर ब्लॉक अध्यक्ष धर्मेंद्र बोहरे के साथ माधव कटारे, गंधारी कदम, शशिभूषण तिवारी, हरिओम पांडे, रामकुमार तिवारी, शशिभूषण राजपूत, आरसी तेकाम, मूलचंद रजक, पवन मिश्रा, सुरेंद्र महावत, राजू यादव, वीएस भास्कर, महेश रैकवार केसली, हेमंत खुरई, वीरेंद्र कुमार जैन, राजेंद्र शंकर, बृजेश कुमार लोधी, राजेश कुमार ढगे, मनमोहन रैकवार, मदन मोहन पाठक, भोला क्रोशिया, शिवम पचौरी, नन्हे भाई पटेल एवं अन्य संघों के पदाधिकारी उपस्थित थे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local