सागर(नवदुनिया प्रतिनिधि)। जिले में हर दिन डेंगू के मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ती जा रही है। एक-दो से बढ़कर अब एक दिन में डेंगू के मरीजों के मिलने का आंकड़ा 10 के पार पहुंच गया है। तीन दिन पहले मंगलवार को रिकॉर्ड एक दिन में 14 डेंगू पॉजिटिव मरीज मिले थे, जिससे अब नगर निगम व मलेरिया विभाग द्वारा अब तक किए जा रहे प्रयासों पर सवाल खड़े हो रहे हैं। वहीं इस मामले में लोगों की लापरवाही भी कम नहीं है जो अपने घरों व आसपास अब भी गंदगी व पानी जमा किए हैं, जिससे डेंगू के मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा होता जा रहा है। जिले में डेंगू के केस अब दो सौ के पार पहुंचने वाले हैं। मलेरिया विभाग और नगर निगम के अधिकारी व कर्मचारी जिले भर में सर्वे कर रहे हैं, लेकिन यह सर्वे व लार्वा नष्ट करने की कार्रवाई पर अब सवाल खड़े हो रहे हैं। निगम प्रशासन जहां दवाओं का छिड़काव कर रहा है वहां भी लगातार डेंगू पॉजिटिव मरीज सामने आ रहे हैं। वहीं मलेरिया विभाग की टीमें प्रतिदिन सैंकड़ों घरों में लार्वा नष्ट करने की जानकारी तो देती हैं, लेकिन उस हिसाब से अब तक मरीजों पर रोक नहीं लग पा रही है। इन विभागों की मॉनीटरिंग जरूरी हो गई है, क्योंकि इनके तमाम प्रयासों का दावा किए जाने के बाद भी शहर में तेजी से डेंगू के मरीज अब भी सामने आ रहे हैं।

जुलाई में एक मरीज था, तीन माह में ही 192पहुंचा आंकड़ा

जिले में डेंगू संक्रमित मरीज मिलने का सिलसिला जुलाई माह में शुरू हुआ था। लगातार हो रही बारिश से कई जगह पानी जमा हो गया था, जिसके बाद यहां मच्छरों की संख्या में तेजी से इजाफा हो रहा था। इसके बाद यह आंकड़ा तेजी से बढ़कर अब 192 तक पहुंच गया है। जानकारी के अनुसार अगस्त माह में 31, सितंबर में 69 एवं अक्टूबर माह में सबसे ज्यादा 86 डेंगू संक्रमित मरीज मिल चुके हैं। इस माह तो हालात यह है कि अक्टूबर के शुरूआती 12 दिनों में ही 86 मरीज मिल चुके हैं, जबकि इतने मरीज तो सितंबर के पूरे माह में नहीं मिले थे। डेंगू की रोकथाम के लिए जिले के लोगों का जागरूक होना बहुत जरूरी है।

मकरोनिया व निगम के आधा दर्जन वार्डों में हर दिन सामने आ रहे मरीज

जिले में लगातार डेंगू के मरीज मिल रहे हैं, लेकिन इन मरीजों में शहरी क्षेत्र में सबसे ज्यादा मरीज सामने आ रहे हैं। सदर क्षेत्र को छोड़ दिया जाए तो मकरोनिया व नगर निगम क्षेत्र में संक्रमित मरीजों के मिलने का आंकड़ा तेजी से बढ़ रहा है। यहां नगर निगम प्रशासन द्वारा सफाई तो कराई जा रही है, लेकिन वह मच्छरों की रोकथाम में सफल नहीं हो रहा है, नतीजतन डेंगू मरीजों की संख्या में वृद्धि हो रही है। शहर के करीब आधा दर्जन वार्ड तो डेंगू मरीजों के मिलने का केंद्र बनता जा रहा है। तिली, परकोटा, कटरा, मोतीनगर वार्ड, कृष्णगंज, गोपालगंज, बाघराज वार्ड एवं मधुकरशाह आदि वार्ड में प्रतिदिन एक-दो मरीज सामने आ रहे हैं।

देवरी में डेंगू का खौफ, हर दिन मिल रहे मरीज

जिले के अकेले देवरी क्षेत्र में डेंगू संक्रमित मरीजों की संख्या में तेजी से इजाफा हो रहा है। यहां पिछले दो माह से एक-दो मरीज ही सामने आ रहे थे, लेकिन अब यहां तीन से चार मरीज मिल रहे हैं। वहीं रहली, शाहगढ़ क्षेत्र में भी डेंगू के कई संक्रमित मरीज मिल चुके हैं। डेंगू के कारण हालात यह है कि कई जगह परिवार के परिवार डेंगू की चपेट में हैं, लेकिन मलेरिया विभाग के अधिकारी सिर्फ कागजी घोड़े दौड़ाने में लगे हुए हैं। इतने दिन से देवरी में मरीज मिल रहे हैं, लेकिन मलेरिया विभाग के अलावा देवरी नगर पालिका के अधिकारी अब तक डेंगू की रोकथाम करने में सफल नहीं हो सके हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local