बीना (नवदुनिया न्यूज)। शहर में विराजमान सभी प्रतिमाओं का विसर्जन मोतीचूर नदीं में किया जाएगा। इसके लिए प्रशासन ने व्यापक स्तर पर तैयारियां की हैं। विसर्जन से जनता को दूर रखने के लिए वैरिगेट्स लगाए गए हैं। इसके लिए रूट के साथ समय भी तय किया गया। दुर्गा उत्सव समिति के सदस्यों से को शाम 6 बजे विसर्जन का समय दिया गया है। शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए अतिरिक्त पुलिस बल तैनात करने का निर्णय लिया या है।

गौरतलब है कि शहर में अलग-अलग करीब 75 स्थानों पर दुर्गा प्रतिमाओं की स्थापना की गई है। इन सभी प्रतिमाओं का आज धूमधाम से विसर्जन किया जाएगा। लेकिन शासन स्तर पर चल समारोह पर पूरी तरह से प्रतिबंध होने के कारण शासन विशेष एहतियात बरत रही है। दुर्गा उत्सव समितियों की बैठक बुलाकर सीमित भक्तों के साथ झांकी निकालने के आदेश दिए गए हैं। 15 से ज्यादा लोग होने पर कार्रवाई की चेतावनी दी गई है। इसके अलावा झांकियां निकालने के लिए महावीर चौराहा, गांधी तिराहा, स्टेशन रोड, सर्वोदय चौराहा, आंबेडकर तिराहा होते ही मोतीचूर नदी के लिए रूट निर्धारित किया गया है। तय रूट के मुताबिक पुलिस बल तैनात किया गया जाएगा। इसके अलावा मोतीचूर नहीं पर भी सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए गए हैं। दुर्गा उत्सव समिति के सदस्यों को विसर्जन घाट तक जाने की अनुमित नहीं रहेगी। प्रतिमाएं लेकर आने वाले वाहनों को घाट से करीब 50 मीटर दूर रोक दिया जाएगा। नपा कर्मचारी हाईड्रा की मदद से प्रतिमाओं का विसर्जन करेंगे। इसके अलावा नदी पर गोताखोर भी नियुक्ति किए जाएंगे। विसर्जन से एक दिन पहले घाट पर लाइटें लगाकर सुंदर तरीके से सजाया गया है।

सीसीटीवी कंट्रोल रूम से होगी निगरानी

शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए पुलिस थाने के अलावा अतिरिक्त पुलिस बल तैनात तो रहेगा ही साथ ही दूसरे थानों का भी बल बुलाया जाएगा। इसके अलावा सीसीटीवी कंट्रोल रूम में शहर के चप्पे-चप्पे की निगरानी की जाएगी। झांकियों के साथ चलने लोग यदि नियमों को उल्लंघन करेंगे तो उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी, ताकि विसर्जन कार्यक्रम में किसी तरह का व्यवधान उत्पन्ना न हो।

शाम छह बजे तक होगा विसर्जन

सभी समिति वालों से संपर्क कर दुर्गा प्रतिमा विसर्जन का समय बता दिया गया है। सभी को निर्देश दिए गए हैं कि वह शाम 6 बजे तक विसर्जन कार्यक्रम संपन्ना कर लें। इसके अलावा शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए अतिरिक्त पुलिस बल लगाया जाएगा.

कमल निगवाल, टीआइ, बीना

-----------------------------------------------------------------

नवरात्र के अंतिम दिन दुर्गा मंदिरों में लगी रही भक्तों की भीड़

बीना (नवदुनिया न्यूज)।

नवरात्र के अंतिम दिन देवी मंदिरों में भक्तों की भारी भीड़ रही। सुबह पांच बजे से मंदिर पहुंचकर भक्तों ने मां को तरह-तरह के भोग लगाए। इसके अलावा नवमी के दिन में बड़ी संख्या में भक्तों ने कुलदेवी की पूजा की। लोगों ने परिवार के साथ देवी मंदिर पहुंचकर रीति रिवाज के साथ कुलदेवी की पूजा की। इसके अलावा मंदिरों में सुबह से शाम तक हवन पूजन का तौर चलता रहा।

शारदीय नवरात्र में भक्तों ने अपने-अपने तरीके से आदि शक्ति मां दुर्गा की उपासना की। आराधना के नौ दिन पूर्ण होने पर भक्तों ने मंदिरों में मां दुर्गा की विशेष पूजा कर व्रत पूरा किया। नवरात्र के अंतिम गुरुवार को सुबह से मंदिरों में भारी भीड़ रही। माता के चरणों में जल अर्पित कर परिवार की सुख समृद्धि की कामना की। किसी ने कन्या भोज कराया तो किसी ने भंडारे का आयोजन किया। इसके अलावा कई लोगों ने दुर्गाष्टमी के बजाए नवमी पर कुलदेवी की पूजा की। इसके चलते माता मंदिरों के बाहर पूरे दिन हवन पूजन का दौर चलता रहा। पंडित देवशंकर दुबे ने बताया का ज्यादातर लोग दुर्गाष्टमी पर कुलदेवी की पूजा करते हैं। यह पूजा घरों में संपन्ना होती है, लेकिन कुछ लोग दुर्गा नवमी पर कुलदेवी की पूजा करते हैं। बहुत से लोग मंदिर जाकर पूजा करते हैं। इसके चलते स्टेशन रोड स्थित प्राचीन माता मंदिर में लोग पूजा करते नजर आए। इसके अलावा कच्चा रोड स्थित मां जागेश्वरी शक्ति पीठ, चार धाम में मंदिर और मंडी स्थित अन्नापूर्णा मंदिरों में सुबह से भक्तों की भीड़ लगी रही।

आज निकाला जाएगी पथ संचलन

बीना। दशहरा पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की ओर से शहर में आज पथ संचलन निकाला जाएगी। नगर प्रचार प्रमुख सचिन तिवारी ने बताया कि पथ संचलन संघ कार्यालय से सुबह 9 बजे निकाला जाएगा। यहां से कॉलेज तिराहा, स्टेशन रोड, गांधी तिराहा, पुराना बस स्टैंड, बड़ी बजरिया, कच्चा महावीर चौराहा, कच्चा रोड सर्वोदय चौराहा होते हुए शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय में संपन्ना होगा। पथ संचलन में शामिल स्वयंसेवकों पर शहर में जगह-जगह पुष्प वर्षा की जाएगी।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local