बीना (नवदुनिया न्यूज)। खाद की कमी को लेकर बुधवार किसानों ने चक्का जाम कर खाद व्यापारियों के पास बड़ी मात्रा में डीएपी का स्टॉक होने का आरोप लगाया था। इस पर स्टॉक का भौतिक सत्यापन करने के लिए एसडीएम ने जांच दल का गठन किया था। गुरुवार को पांच सदस्यीय जांच दल ने व्यापारियों के रिकॉर्ड देखकर गोदामों में रखे खाद का भौतिक सत्यापन किया। इस दौरान अधिकारियों को शहर के बड़े खाद व्यापारियों की गोदाम में डीएपी का स्टॉक नहीं मिला।

एसडीएम प्रकाश नायक द्वारा गठित जांच दल ने पूजा ट्रेडर्स के यहां से कार्रवाई की शुरुआत की। सबसे पहले टीम में व्यापारी का रिकॉर्ड चैक किया। रिकॉर्ड में डीएपी निल था।इसके चलते टीम ने गोदाम में जाकर भौतिक सत्यापन किया। गोदाम में भी डीएपी का एक भी दाना नहीं मिला। इसके बाद नायब तहसीलदार के नेतृत्व में बनाई गई टीम सुनील ट्रेडर्स पर पहुंची। यहां पर टीम ने व्यापारी द्वारा तैयार की गई स्टॉक पंजी देखकर गोदाम का निरीक्षण किया। पंजी के मुताबिक गोदाम में खाद का स्टॉक मिला, लेकिन इसमें डीएपी नहीं था। इसी तरह दांगी ब्रदर्स, वर्धमान ट्रेडर्स और वीर ट्रेडर्स पर जाकर टीम ने जांच पड़ताल की। लेकिन एक भी व्यापारी के पास डीएपी का स्टॉक नहीं मिला। इस दौरान नायब तहसीलदार प्रिंसी जैन ने व्यापारियों को हिदायत देते हुए कहा कि सभी को पीओएस मशीन से खाद देना है। बिना मशीन के खाद देने पर कार्रवाई की जाएगी। टीम में ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी राकेश परिहार, एससी जैन शामिल थे।

किसान स्लिप जरुर लें

स्टॉक चैक करने पहुंचे ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी राकेश परिवाह ने किसानों ने कहा कि खाद की कमी का फायदा उठाकर लोग नकली खाद बेच सकते हैं। इससे बचने के लिए उन्होंने किसानों से अपील है कि वह जहां से भी खाद खरीदें पीओएस मशीन की स्लिप जरुर लें। यदि नकली खाद हुआ तो स्लिप और बिल के आधार पर संबंधित व्यापारी के खिलाफ कार्रवाई की जा सकेगी।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local