सागर (नवदुनिया प्रतिनिधि)। अखंड सौभाग्य और सुख-समृद्धि के लिए रविवार को महिलाएं करवा चौथ का व्रत रखेंगी। इसके लिए बाजारों में खरीदारी शुरू हो गई है। साड़ी, बुटीक, पार्लर, मेहंदी वाले, ज्वैलरी, चूड़ियों की दुकानों पर महिलाओं की खासी भीड़ दिख रही है। वहीं दुकानदार भी अच्छी ग्राहकी से खुश हैं। उन्हें उम्मीद है कि अब खरीदारी की यह त्योहारी श्रृंखला दीपावली के बाद तक जारी रहेगी।

डिजाइनर करवों की सबसे ज्यादा डिमांड

हर साल की तरह इस बार भी डिजाइनर करवे बिकने के लिए आए हैं, जिनकी कीमत 50 रुपए से लेकर 150 रुपए तक है। डिजाइनर करवों के अलावा डिजाइनर थाली की भी काफी मांग है। इस थाली में थाली, करवे, छलनी आदि शामिल होते हैं, जिनकी कीमत 350 से 400 रुपये तक होती है। बाजार में 250 रुपए में सादा करवा, छलनी, माताजी पाना, व्रत पुस्तक और पूजन सामग्री का पैकेट भी मिल रहा है।

बाजार में स्पेशल चूड़ी और कड़ों की भरमार

बाजार में करवाचौथ स्पेशल चूड़ी और कड़ों की भरमार है। वहीं महिलाओं को लुभाने के लिए विक्रेताओं ने बाजार में इनकी खास रेंज निकाली है। गुजराती बाजार में चूड़ी की दुकानों पर भीड़ है। चूड़ी बाजार में महिलाओं ने रंग-बिरंगी चूड़ी से लेकर डिजाइन वाले कड़े भी पसंद किए। बाजार में करवा चौथ को लेकर आकर्षक नामों की कांच की रंग बिरंगी चूड़ियां और फैंसी बिंदी की डिमांड ज्यादा है। इस बार मेटल के स्थान पर कांच के कड़े महिलाओं की पहली पसंद बने हुए है। यहां दुकान चलाने वाले आलोक कुमार का कहना है कि वैसे तो कांच की चूड़ियां अलग-अलग नामों से आई है, प्लेन चूड़ी से लेकर डिजाइन वाली चूड़ियां बिक रही है।

बाजार में साड़ी की दुकानों पर खासी भीड़ है। करवा चौथ के लिए पांच सौ लेकर पांच हजार रुपये तक की साड़ी उपलब्ध है। लिंक रोड पर साड़ी की दुकान चलाने वाले विनीत जैन का कहना है कि करवा चौथ की खरीदी शुरू हो गई है। व्रत के लिए वर्क वाली साड़ियों की डिमांड ज्यादा है। सभी तरह के कस्टमर को देखकर साड़ी बुलाई गई हैं। करवा चौथ के दिन अच्छी खासी बिक्री की उम्मीद है।

पारंपरिक डिजाइन के अलावा

ऐसा माना जाता है कि करवाचौथ की मेहंदी का रंग जितना गहरा होता है, उस महिला को अपने पति और ससुराल से उतना ही ज्यादा प्यार मिलता है। हर साल की तरह इस साल भी अरेबिक, बेल और पारंपरिक मेहंदी डिजाइन के अलावा हैवी डिजाइन भी काफी पसंद किए जाएंगे।हैवी डिजाइन में ज्वैलरी डिजाइन काफी ट्रेंड में है। गोल बूटा डिजाइन हमेशा पसंद किया जाता है। मेहंदी लगाने से पहले मेनीक्योर करा लें। क्रीम लगाकर मेहंदी न लगाएं बल्कि नीलगिरी का तेल लगाएं। मेहंदी दो दिन में गहरी होती है, इसलिए करवाचौथ से दो दिन पहले मेहंदी लगवा लें। लौंग के धुएं, विक्स, चूना आदि लगाकर भी मेहंदी के रंग को गहरा किया जा सकता है।

पार्लरों में हुई बुकिंग

पार्लरों में इस समय सबसे ज्यादा भीड़ है। पार्लर संचालक भी करवाचौथ पर स्पेशल पैकेज दे रहे हैं। महिलाएं ब्लीच, फेशियल से लेकर मेनीक्योर-पेडीक्योर तक करा रही हैं। जो महिलाएं करवाचौथ पर मेकअप कराती हैं, उन्होंने बुकिंग करा दी है। पार्लर संचालक दौलत परमार ने बताया कि करवाचौथ के लिए एक सप्ताह पहले ही बुकिंग हो गई थी।

डोल स्लिक साड़ी की सबसे ज्यादा मांग

इस करवाचौथ पर पल्लो कट स्टाइल व बार्डर वाली साड़ियों के अलावा सबसे ज्यादा डोला स्लिक साड़ी की मांग है। बनारसी साड़ी का ट्रेंड हमेशा बना रहता है। साड़ी विक्रेता अनुराग समैया का कहना है कि सिक्विन साड़ी पसंद करने वाली महिलाओं की संख्या भी काफी है। इनके अलावा रेडीमेड साड़ी भी नई दुल्हनों को काफी पसंद आ रही है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local