Sagar News: सागर (नवदुनिया प्रतिनिधि)। मौसम में उतार-चढ़ाव की वजह से वायरल फीवर के मरीज बढ़ रहे हैं। दिन में गर्मी व सुबह-शाम व रात में सर्दी होने से सर्दी, खांसी, बुखार, सिर दर्द की शिकायत लेकर रोजाना बड़ी संख्या में मरीज बुंदेलखंड मेडिकल कालेज पहुंच रहे हैं। इसमें से 150 से 200 मरीजों का वार्ड में भर्ती करके इलाज किया जा रहा है। मौसम में उतार-चढ़ाव आने से वायरल इन्फेक्शन फैल रहा है। डाक्टरों का कहना है कि ठंडी बढ़ने के कारण वायरल इन्फेक्शन हो रहा है। पिछले तीन-चार सालों से नवंबर-दिसंबर में वायरल फीवर के मामले बढ़े हैं। बुंदेलखंड मेडिकल कालेज में गुरुवार को एक हजार के करीब मरीजों की ओपीडी हुई। इसमें से 25 से 30 फीसद मरीज सर्दी, खांसी, गला सर्द के शामिल थे।

फेफड़े तक पहुंच जाता है इन्फेक्शन

मरीजों में सर्दी, खांसी, बुखार गले में दर्द, खराश, सीने में दर्द, जलन, ठंडी लगने, सिर और बदन में दर्द, जोड़ों में दर्द, कमजोरी, भूख न लगने उल्टी-दस्त और डायरिया की भी शिकायत है। गंभीर मरीजों को वार्ड में भर्ती करके इलाज किया जा रहा है। कुछ मरीज दूसरे या तीसरे दिन में भी स्वस्थ हो जाते हैं, जबकि किसी-किसी को हफ्तेभर बाद आराम होता है। वहीं, कुछ मरीज 15 दिन बाद भी ठीक नहीं हो रहे हैं। डा. मनीष जैन का कहना है कि वायरल इन्फेक्शन का इन्वॉल्मेंट कहां और किस अंग तक हो गया, यह उस पर निर्भर करता है। इन्फेक्शन श्वास नली या फेफड़ों तक पहुंचने के बाद लंबा इलाज होता है। मरीजों को टेमीफ्लू और एंटी वैक्टीयिरल दवाएं दी जाती हैं।

बुखार होते ही डाक्टर को दिखाएं

डा. मनीष जैन ने बताया कि वायरल इन्फेक्शन होते ही कमजोरी और हल्का बुखार होने लगता है। ऐसी स्थिति में तुरंत डाक्टर को दिखाएं और समय पर इलाज करवाएं। तीन दिन में आराम नहीं हुआ तो खून, बलगम और पेशाब की जांच करवाएं। कुछ लोग डाक्टर को दिखाए बगैर ही मेडिकल स्टोर से दवा ले लेते हैं। ऐसे लोगों की हालत ज्यादा गंभीर हो जाती है। डाक्टर की सलाह पर दवा लें।

इस साल डेंगू मरीज घटे, मलेरिया के बढ़े

सागर जिले में डेंगू को लेकर अच्छी खबर है। पिछले साले के मुकाबले इस साल डेंगू रोग के मरीजों में कमी आई है। वहीं मलेरिया की मरीज बढ़े हैं। जिला मलेरिया कार्यालय के मुताबिक वर्ष 2021 में डेंगू के 392 मरीज सामने आए थे, लेकिन वर्ष 2022 में नवंबर तक केवल 45 मरीज ही मिले हैं। वहीं मलेरिया की बात करें तो गत वर्ष पूरे साल में 18 मामले सामने आए थे, इस साल अब तक मलेरिया के 42 मरीज मिले हैं। वर्ष 2020 में डेंगू व मलेरिया के मरीजों की संख्या 44-44 थी। सहायक जिला मलेरिया अधिकारी एसबी सिंह का कहना है कि इस साल तेज बारिश से एडीज मच्छर के अंडे बह गए। इस कारण संक्रमित मच्छर पैदा नहीं हुए। स्वच्छता के प्रति भी सतत अभियान चले।

पांच साल के आंकड़े

वर्ष - डेंगू - मलेरिया

2018 -15 -222

2019 - 211 -130

2020 -44 -44

2021 -392 -18

2022 -45 -42

Gwalior Crime News: पीएमटी कांड में साल्वर को चार साल की सजा

Shivpuri News: जन्मदिन समारोह से पहले घर के पास लगाया बम, फोन पर कहा-सरप्राइज देंगे

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close