सागर, नईदुनिया प्रतिनिधि। सागर के एक ठेकेदार से एक करोड़ 12 लाख रुपए की ठगी करने के आरोप में पुलिस ने भोपाल के एक मटेरियल सप्लायर और उसके चार्टर्ड एकाउंटेंट बेटे को गिरफ्तार किया है। आरोपितों से 26 लाख 29 हजार रुपए बरामद कर लिए गए हैं।

अतिरिक्त पुलिस अीक्षक देहात विक्रम सिंह ने बताया कि सागर जिले के नरयावली थाना क्षेत्र के मूडरा निवासी लाखन सिंह ठाकुर लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी (पीएचई) और लोक निर्माण विभाग (पीडब्ल्यूडी) में ठेकेदारी करते हैं। वर्ष 2018 में उनका संपर्क भोपाल के कबाड़खाना क्षेत्र निवासी मटेरियल सप्लायर मुस्तफा से हुआ। मुस्तफा ने उन्हें कम रेट पर लोहे के पाइप सप्लाई करके विश्वास जीत लिया। बाद में मुस्तफा ने लाखन सिंह को ई-मेल पर फर्जी एग्रीमेंट भेजकर अपने खाते में तीन किस्तों में एक करोड़ 12 लाख रुपए जमा करा लिए, लेकिन पाइप सप्लाई नहीं किए।

लाखन सिंह ने संपर्क किया लेकिन मुस्तफा और उसका बेटा ताहिर टालामटोली करता रहा। बाद में अपने सभी खातों में जीरो बैलेंस कर भाग गए। लाखन सिंह ने भोपाल जाकर अन्य लोगों से पूछताछ की तो पता चला कि मुस्तफा और ताहिर पूर्व में भी कई लोगों को ठग चुके हैं। लाखन सिंह की शिकायत पर नरयावली थाने में मुस्तफा और उसके बेटे ताहिर के खिलाफ केस दर्ज किया गया।

पुलिस ने उन्हें पुणे, मुंबई व वड़ोदरा में भी तलाशा। अब उन्हें भोपाल से गिरफ्तार कर लिया गया है। उनसे 26 लाख 29 हजार रुपए जब्त किए गए हैं। पूछताछ में मुस्तफा ने कबूल किया कि वह पूर्व में भोपाल के स्टार स्टील के मालिक से 25 लाख, होटल कस्टमाइज के मालिक से 5 लाख की ठगी कर चुका है। भोपाल, इंदौर, दिल्ली सहित प्रदेश के अन्य जिलों में भी उनके खिलाफ शिकायतें लंबित हैं।