सागर(नवदुनिया प्रतिनिधि)। कोरोना महामारी के संकट से जूझ रहे इस दौर में सामाजिक संबंध प्रभावित हुए हैं। एक ओर जहां संकटकालीन दौर में आपसी सहयोग, सौहार्द, विश्वास, संवाद और सांस्कृतिक मूल्यों को बल मिला है तो वहीं दूसरी ओर नई चुनौतियां भी पैदा हुई हैं। यह बात कोल्हापुर महाराष्ट्र के महाराज शाहजी छत्रपति महाविद्यालय द्वारा आयोजित राष्ट्रीय वेबिनार में मुख्य वक्ता के रूप में डॉॅ. हरीसिंह गौर विश्वविद्यालय के समाजशास्त्र एवं समाज कार्य विभाग में पदस्थ प्रोफेसर दिवाकर सिंह राजपूत ने कही।

उन्होंने कहा कि जैसे प्रत्यक्ष संवाद का संकट, आपसी सहयोग और विश्वास का संकट, सामाजिकरण के स्वरूप और अभिकरणों की स्थिति पर कोरोना का असर दिख रहा है। प्रो राजपूत ने कहा कि समाज विज्ञान में जब संघर्ष के प्रकारों की चर्चा की जाती है तब चुनौतियों को अवसर में बदलने का आधार मिलता है। कोविड-19 ने भी संयुक्त परिवार, भारतीय सामाजिक-सांस्कृतिक मूल्यों और प्रकृति की ओर लौटने का एक अवसर दिया है, लेकिन महामारी के दौर में सामाजिक आर्थिक चुनौतियों के साथ यह भी देखा जा रहा है कि वास्तविक विश्व और आभासी विश्व के बीच अनायास के जीवन बदलाव में सामाजिक सामंजस्य के असंतुलन को भी बल मिल रहा है।

ऑनलाइन शिक्षा व साइबर क्राइम में भी डाला प्रकाश

प्रो. राजपूत ने ऑनलाइन शिक्षा, वर्क फ्रॉम होम, साइबर क्राइम, स्वास्थ्य, सुरक्षा, सामाजिक काउंसिलिंग आदि विचारणीय बिंदुओं पर भी प्रकाश डाला। वेबिनार में डॉ. सतीश देसाई ने ग्रामीण सामाजिक संबंधों पर प्रभाव पर विस्तार से चर्चा की। प्राचार्य डॉ. शाने दीवान ने अध्यक्षीय उद्बोधन में प्रो. राजपूत के और डॉ. देसाई के वक्तव्यों की समीक्षा प्रस्तुत की। प्रश्नोत्तर काल में सहभागियों ने अपने सवाल रखे, जिनका समाधान विषय विशेषज्ञों ने किया। कार्यक्रम का संचालन डॉ. विशाल पुंडीकर ने किया। कार्यक्रम संयोजक डॉ. के एम देसाई ने धन्यवाद ज्ञापित किया।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020