सागर(नवदुनिया प्रतिनिधि)। बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज में बुधवार को दिनभर चले विवाद के बाद देर रात से गुरुवार को सुबह तक 10 मरीजों की मौत हो गई। मृतकों में चार लोग पॉजिटिव थे तो वहीं चार मरीजों की जांच रिपोर्ट अब भी आना बाकी है। शाम तक पांच मृतकों का नरयावली नाका श्मशानघाट में अंतिम संस्कार कर दिया गया। एक मरीज की मौत के बाद उसके स्वजन ने नाराजगी भी जताई है। जिले के बिगड़ते हालात को देखते हुए अब लोगों को मास्क पहनना व गाइडलाइन का पालन करना बहुत जरूरी हो गया है।

बीएमसी में बुधवार को दिनभर ऑक्सीजन की कमी के मामले में लापरवाही सामने आई थी, जिसके बाद से यहां अधिकारी व्यवस्थाएं बनाने में व्यस्त रहे। इस बीच कुछ वार्डों में ऑक्सीजन की सप्लाई न होने की शिकायतें भी सामने आई थी, लेकिन जिला प्रशासन द्वारा इसे पूरी तरह नकार दिया था। इसके बाद देर शाम कुछ परिजनों द्वारा बीएमसी में कर्मचारियों के साथ झूमाझटकी तक की गई थी, जिससे यहां माहौल खराब हो गया था और देर रात तक बड़ी संख्या में पुलिसबल तैनात रहा।

चार लोग पॉजिटिव, तीन की निगेटिव

बुधवार देर रात से गुरूवार को सुबह तक 11 लोगों की मौत होने से प्रशासन में हड़कंप मच गया। मृतक कोरोना संक्रमित मिलने के बाद इलाज करा रहे थे। बीएमसी द्वारा जांच रिपोर्ट में चार मृतकों की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव बताते हुए उनका अंतिम संस्कार किया गया था, लेकिन तीन लोग निगेटिव निकले थे। हालांकि चार लोगों की जांच रिपोर्ट आना बाकी थी। जानकारी के अनुसार नरयावली नाका श्मशानघाट में इलेक्ट्रॉनिक शव गृह व लकड़ियों के माध्यम से निगम के अमले द्वारा पांच लोगों का अंतिम संस्कार कराया गया था। हालांकि राहतगढ़ क्षेत्र के मृतक के परिजनों द्वारा शव का अंतिम संस्कार करने से पहले कुछ नाराजगी भी जताई गई थी। कोई इलाज को लेकर तो कुछ देर से जानकारी दिए जाने के आरोप लगा रहे थे।

----------------::-------------------

कलेक्टर ने किया आइसोलेशन वार्ड और बीड़ी अस्पताल का निरीक्षण

कोरोना संक्रमण की रोकथाम एवं नियंत्रण के लिए कोरोना संक्रमित व्यक्तियों को आइसोलेशन करने के लिए शुक्रवार को कलेक्टर दीपक सिंह ने आइसोलेशन वार्ड बीड़ी अस्पताल का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान सिटी मजिस्ट्रेट सीएल वर्मा, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी अधिकारी डॉ सुरेश बौद्ध, सिविल सर्जन डॉक्टर एमडी गायकवाड, आयुष अधिकारी डॉ संजय खरे, उपायुक्त डॉ प्रणय कमल खरे, डॉक्टर शाक्य, डॉक्टर विपिन खटीक सहित अधिकारी एवं डॉक्टर मौजूद थे ।

आइसोलेशन वार्ड बीड़ी अस्पताल के निरीक्षण के दौरान कलेक्टर दीपक सिंह ने निर्देश दिए कि वार्ड में समस्त आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएं। उन्होंने भर्ती मरीजों को दी जाने वाली गरम पानी के लिए केटली, पंखे, कूलर, टीवी एवं मनोरंजन की सामग्री की उपलब्धता सुनिश्चित की जाए। कलेक्टर श्री सिंह ने आयुष अधिकारी को निर्देश दिए कि वह प्रतिदिन आयुर्वेदिक काढ़ा का वितरण भी कराएं एवं योगाभ्यास भी प्रतिदिन कराएं। कलेक्टर श्री सिंह ने आइसोलेशन वार्ड में एक एम्बुलेंस एडॉक्टर, पैरामेडिकल स्टाफ की ड्यूटी 24 घंटे के हिसाब से लगाई जाए।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags