सागर। नवदुनिया प्रतिनिधि

पुरानी बुराई पर दो लोगों पर जानलेवा हमला करने वाले एक युवक को बंडा के अपर सत्र न्यायाधीश उमाशंकर अग्रवाल ने पांच साल के सश्रम कारावास व दो युवकों पर 1-1 हजार रुपए अर्थदंड किया है।

अपर लोक अभियोजक आरएन यादव ने बताया कि पुरानी बुराई को लेकर नयाखेड़ा गांव निवासी महारानी अहिरवार के परिवार के सदस्यों का गांव के जाहर पिता पप्पू अहिरवार, सिन्धी उर्फ प्रेमलाल पिता छिददे अहिरवार व पप्पू पिता भदू अहिरवार से विवाद था। 17 जुलाई 2017 को आरोपित जाहर उसके परिवार के लख्खू पिता हल्लू व चुमन से गालीगलौज करने लगा। हल्लू ने आरोपित को गालियां देने से मना किया तो जाहर के साथी पप्पू व सिंधी उर्फ प्रेमलाल भी मौके पर आ गए। आरोपितों ने हल्लू पर धारदार हथियारों से जानलेवा हमला कर दिया। महारानी ने शोर मचाया तो उसका बेटा सुरेन्द्र बचाने के लिए आया, जिसे भी पप्पू और सिंधी ने हमला कर घायल कर दिया। आरोपितों ने चुमन से भी मारपीट की। पत्थरबाजी करने के कारण घटना में महरानी और उसका अन्य बेटा हेमराज भी घायल हो गए।

घटना की रिपोर्ट बंडा थाने की पुलिस से की गई। पुलिस ने आरोपितों के खिलाफ केस दर्ज कर घायल हल्लू को बंडा अस्पताल में भर्ती कराया। पुलिस ने चालान कोर्ट में पेश किया। कोर्ट ने गवाहों के बयान और साक्ष्यों के आधार पर आरोपित जाहर को 5 साल के सश्रम कारावास व 5 हजार रुपए अर्थदंड से दंडित किया है। इसके अलावा पप्पू और सिंधी उर्फ प्रेमलाल पर एक-एक हजार रुपए अर्थदंड किया है। पीड़ित हल्लू पिता रज्जू अहिरवार को प्रतिकर दिलाने के लिए निर्णय की एक प्रति जिला विधिक सेवा प्राधिकरण भेजने के आदेश दिए हैं।