सागर(नवदुनिया प्रतिनिधि)। डा. हरीसिंह गौर विश्वविद्यालय के बालिका छात्रावास से संबंधित विभिन्ना समस्याओं को लेकर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के पदाधिकारियों की भूख हड़ताल गुरुवार को तीसरे दिन भी जारी रही। प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे विवि के अध्यक्ष चुनेंद्र बघेले दोपहर के समय तेज धूप होने से धरना स्थल पर ही बेहोश हो गए, जिसके बाद उन्हें बीएमसी में भर्ती कराया गया। इसके बाद एसडीएम सपना त्रिपाठी उनसे मिलने पहुंची, लेकिन विद्यार्थी कुलपति प्रो. नीलिमा गुप्ता से ही मुलाकात करने की मांग पर अड़े रहे।

विवि के मुख्य प्रशासनिक भवन के गेट के सामने धरने पर बैठे प्रदर्शनकारियों ने कुलपति गुमशुदा के पोस्टर लगाने के बाद एक बार फिर कुलपति बाहर आओ के नारे लगाए। इसके बाद भी देर शाम तक कुलपति छात्रों से चर्चा करने नहीं पहुंची, जिससे अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के सदस्यों में काफी आक्रोश है। छात्रों का कहना है कि विवि के छात्रावास में रहने वाली छात्राओं की सुरक्षा संबंधी गंभीर मामले में भी कुलपति ध्यान न देकर, विवि में होने वाले कार्यक्रमों में व्यस्त हैं। यदि वह छात्राओं व परिषद के सदस्यों से मुलाकात करने आ जाती तो ऐसे हालात नहीं बनते। प्रदर्शन के दौरान अभाविप के अध्यक्ष चुनेंद्र बघेले भूख हड़ताल व तीसरे दिन तेज उमस होने की वजह से बेहोश होकर गिर गए, जिसे बीएमसी में भर्ती कराया गया। जिला संयोजक सुप्रीयो राय ने कहा कि हम सभी विद्यार्थी कुलपति से मुलाकात होने व मांगों के निराकरण होने तक यहां से नहीं हटेंगे। विवि प्रशासन द्वारा हमारी मांगों पर कोई उचित निर्णय नहीं लिया है, जबकि हमारी मांग रात में लाइब्रेरी खुलने तक साढ़े 9 बजे तक छात्रावास में प्रवेश करने की छूट देना है।

--------------------------------------

छात्राएं रेलवे स्टेशन का उचित प्रमाण प्रस्तुत करके अधिकृत रिक्शा का उपयोग करें

विवि के छात्रों की मांग पर विवि प्रशासन ने कुछ रियायत दी है। आवेदन के आधार पर समस्याओं के निराकरण के लिए विवि प्रशासन ने एक समिति का गठन किया था। समिति की अनुशंसा के आधार पर बालिका छात्रावास में सायंकालीन प्रवेश का समय बढ़ाकर रात्रि 8 बजे तक कर दिया गया है। रात्रिकालीन ट्रेन होने की स्थिति में छात्राएं रेलवे स्टेशन जाने हेतु यात्रा का उचित प्रमाण प्रस्तुत करते हुए विश्वविद्यालय द्वारा अधिकृत आटो रिक्शा का उपयोग कर सकती हैं। समिति ने सभी बालिका छात्रावासों में प्रवेश एवं निकास द्वारों पर सीसीटीवी कैमरे लगाने व सप्ताह में कम से कम एक बार चिकित्सकों द्वारा छात्राओं के स्वास्थ्य परीक्षण करने का आश्वासन दिया है। इसके अलावा सभी बालिका छात्राओं में अत्याधुनिक एवं सभी सुविधाओं से युक्त जिम की सुविधा उपलब्ध कराने की अनुशंसा की है। बालिका छात्रावास से संबंधित उपरोक्त समस्त उचित मांगों का निराकरण कर लिया गया है और उसके लिए यथाशीघ्र आवश्यक कार्रवाई की जा रही है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close