सागर (नवदुनिया प्रतिनिधि)। सागर जिले के जैसीनगर थाना क्षेत्र में 5 मई को सामूहिक दुष्कर्म हुआ था। वारदात के बाद से ही मुख्य आरोपित फरार है। पुलिस ने सक्रियता दिखाते हुए तत्काल मौके पर पहुंचकर कार्रवाई शुरू की। आरोपित को पकड़ने के लिए 20 हजार रुपये का इनाम घोषित किया। उसके पीछे पुलिस की दस टीमें लगाईं, लेकिन हालत यह है कि 21 दिन बाद भी पुलिस के हाथ खाली हैं। आरोपित को पकड़वाने में पुलिस का मुखबिर तंत्र भी पूरी तरह फेल है। इस मामले में जब भी पुलिस से बात करो तो जवाब एक ही मिलता है, तलाश जारी है।

गौरतलब है कि 5 मई की शाम 20 वर्षीय युवती अपने जीजा के साथ जैसीनगर आ रही थी। तभी ग्राम रमपुरा के पास जंगल के रास्ते में आरोपितों ने रोक लिया। जहां जीजा के साथ मारपीट की और युवती को उठाकर जंगल में ले गए थे। जंगल में करीब 4 किमी अंदर ले जाकर युवती के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया। सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची थी और कार्रवाई करते हुए युवती को सुरक्षित बरामद किया गया था। मामले में पुलिस ने तीन आरोपित को गिरफ्तार कर लिया था। मुख्य आरोपित चैनसिंह फरार हो गया था। पुलिस और प्रशासन ने वारदात सामने आने पर आरोपितों के अवैध मकानों को भी जमींदोज करा दिया था लेकिन आज भी उसे गिरफ्तार नहीं कर पाई।

पुलिस के मुताबिक मुख्य आरोपित रायसेन जिले के जंगल में छिपा बैठा है। पुख्ता लोकेशन नहीं मिलने से आरोपित गिरफ्त में नहीं आ पा रहा है।

आरोपित चालाक मोबाइल का नहीं कर रहा उपयोग

जानकारों के मुताबिक चैन सिंह शातिर है। वह अपने साथ मोबाइल नहीं ले गया। पुलिस उसके रिश्तेदारों के यहां दबिश दे चुकी है, लेनिक कोई खबर नहीं मिली। पुलिस अधीक्षक तरुण नायक का कहना है कि आरोपित की तलाश चल रही है। उसके रायसेन के जंगल में होने की खबर है। शीघ्र ही वह पुलिस की गिरफ्त में होगा।

....................

मकरोनिया क्षेत्र में 50 मीटर से अधिक ऊंचाई पर नहीं उड़ा सकेंगे ड्रोन

सागर (नवदुनिया प्रतिनिधि)। मकरोनिया क्षेत्र के सैन्य क्षेत्र की सीमा के पास स्थित ऐसी मैरिज गार्डन संचालक अपने यहां आयोजित होने वाली शादियों में 50 मीटर से अधिक ऊंचाई पर ड्रोन नहीं उड़ा सकेंगे। यदि कोई मैरिज गार्डन संचालक या बरात में ड्रोन 50 मीटर से अधिक उड़ाया गया तो संबंधित पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी। जानकारी के मुताबिक सागर- मकरोनिया मार्ग पर सिविल लाइन के आगे से सैन्य क्षेत्र लगा हुआ है। इसी बीच कई ऐसे मैरिज गार्डन है, जहां रोज शादियां हो रही हैं। इन शादियों में बरात निकलने के दौरान ड्रौन कैमरे का उपयोग हो रहा है। ड्रोन कैमरे अधिक ऊंचाई से उड़ाने पर सैन्य क्षेत्र की गतिविधियां भी कैमरे में कैद होती है। इससे सेना की गोपनीयता भंग होती है। पहले भी सेना के अधिकारी इसको लेकर अपनी आपत्ति दर्ज करा चुक है। पिछले साल भी इसको लेकर पुलिस ने मैरिज गार्डन संचालकों की बैठक कर निर्देश दिए थे, उसके बाद भी कुछ जगह इसका उल्लंघन हो रहा है। मकरोनिया थाना प्रभारी एसके जगेत मकरोनिया का कहना है कि मैरिज गार्डन संचालकों के अलावा वीडियो व फोटोग्राफी का काम करने वाले लोगों को थाने बुलाकर हिदायत दी है कि ड्रौन कैमरा 50 मीटर की ऊंचाई पर न उड़ाए। यदि ऐसा होता है तो उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

..............

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close