बीना (नवदुनिया न्यूज)। सेमरखेड़ी पंचायत सहित ग्रामीण क्षेत्र में व्याप्त पेयजल संकट की मांग को लेकर राष्ट्रीय किसान मजदूर महासंघ के बैनर तले किसान यूनियन के पदाधिकारी 23 मई से सेमरखेड़ी गांव में क्रमिक धरना प्रदर्शन कर रहे थे। सरपंच चंदाबाई के बेटे को यह बात इतनी नागवार गुजरी कि उन्होंने बुधवार दोपहर करीब 12 बजे प्रदर्शन स्थल पर जाकर हवाई फायर करते हुए बैनर फाड़कर प्रदर्शन करने वालों उठा दिया। इसके अलावा गांव में दोबारा धरना प्रदर्शन करने पर गोली मारकर जान से मारने की धमकी दी।

धरना प्रदर्शन पर बैठे किसान महासंघ के लिए जिला समन्वयक सीताराम ठाकुर ने बताया कि उन्होंने 20 मई को एसडीएम शैलेंद्र सिंह को पेयजल संकट और पीएम आवास योजना में अपात्र लोगों को दिए गए लाभ की जांच कराने की मांग की थी। तीन में दिन में मांग पूरी न होने पर उन्होंने सेमरखेड़ी गांव में हनुमान मंदिर में धरना प्रदर्शन की चेतावनी दी थी। मांगें पूरी न होने पर वह सोमवार से गांव में क्रमिक धरना प्रदर्शन कर रहे थे। इसी बात को लेकर सरपंच के बेटे सुजान सिंह ने आकर पहले बैनर धरना स्थल पर लगा किसान यूनियन का बैनर फाड़ दिया और बाद में हवाई फायर कर धरना प्रदर्शन करने वालों उठा दिया। इसके अलावा धरना पर बैठने पर जान से मारने की धमकी दी। इसकी खबर लगते ही राष्ट्रीय किसान मजदूर महासंघ और भारतीय किसान श्रमिक जनशक्ति यूनियन के पदाधिकारी बीना पहुंच गए। उन्होंने एसडीओपी प्रशांत सिंह सुमन को ज्ञापन देकर कार्रवाई की मांग की है। इसके अलावा गांव में चल रहे क्रमिक धरना स्थल पर पुलिस सुरक्षा मुहैया कराने की मांग की है। मांगें पूरी न होने पर दोनों यूनियन के पदाधिकारियों ने उग्र आंदोलन करने की चेतावनी दी है। वहीं दूसरी ओर इस संबंध में एसडीओपी का कहना है कि किसान यूनियन की ओर से आज ज्ञापन दिया गया है। इसकी जांच करने के लिए आगासौद थाना प्रभारी को मौके पर भेज रहे हैं। जांच में पता चलेगा का क्या मामला है। ज्ञापन देने वालों में किसान श्रमिक जनशक्ति यूनियन प्रदेश अध्यक्ष संदीप ठाकुर, किसान संघर्ष समिति के जिलाध्यक्ष अभिनव श्रीवास, अरविंद सिंह, कृपाल सिंह, उमेश राजपूत, सूर्यप्रताप सिंह, जयसिंह, गोलू कुर्मी, अजीत सिंह, रोहित तिवारी शामिल हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close