- पूर्व महापौर के पास राशन के लिए आ रहे फोन, गाड़ियों में भरकर मोहल्लों में पहुंचा रहे राशन सामग्री।

सागर (नवदुनिया प्रतिनिधि)।

कोरोना के चलते टोटल लॉकडाउन में सामाजिक संगठनों से सामूहिक रूप से जहां गरीबों का पेट भरने का बीड़ा उठाया है, ऐसे में चार महीने पहले तक शहर के प्रथम नागरिक रहे पूर्व महापौर अभय दरे और उनका पूरा परिवार दिल खोलकर लोगों की मदद के लिए आगे आया है। पहले अपने घर से रोजाना राशन, सब्जी व अन्य सामग्री बांट रहे थे, लेकिन भीड़ लगने और फिजिकल डिस्टेंसिंग न हो पाने के कारण वे अब गरीब तबके के लोगों की देहरी तक राशन पहुंचा रहे हैं। बीते एक हफ्ते में करीब 500 से अधिक लोगों को राशन बांटा गया है।

पूर्व महापौर अभय दरे, उनकी पत्नी मधु दरे व बेटा-बेटी की सुबह आजकल कुछ अलग तरह से होती है। पूरा परिवार सुबह से वाहनों में भरकर बुलाई गई सब्जी, राशन, किराना सामग्री को पैक करने में गुजर रहा है। पूरा दरे परिवार अपने हाथों से एक-एक पैकेट को पैक कर रहा है, ताकि किसी में कमीबेशी न रहे। बीते 8 दिनों से यह सिलसिला लगातार जारी है। बीते चार दिन से उनके सहयोगी व स्टाफ के लोग उनके द्वारा पैक किए गए राशन के पैकेट राजीव आवास सहित संजय नगर, संत रविदास वार्ड, अंबेडकर वार्ड सहित अन्य इलाकों में पहुंचा रहे हैं। लॉकडाउन में उनका निजी कारोबार भी बंद है, इसलिए लोगों को राहत देने और पुण्य कमाने के इस दौर में उनका पूरा परिवार जुटा हुआ है।

फोटो- 0704 एसए- 28 सागर। जरूरतमंदों को उपलब्ध कराने के लिए राशन व सब्जी के पैकेट बनाते महापौर, उनकी पत्नी व बेटी।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना