- श्री गुलाब बाबा की दो किलोमीटर लंबी शोभायात्रा से गुलाबी हुआ शहर, स्वागत के बाद साफ किए डिस्पोजल

सागर। नवदुनिया प्रतिनिधि

संत शिरोमणि श्री गुलाब बाबा मंदिर के वार्षिकोत्सव के अवसर पर बुधवार को गाजे-बाजे के साथ शोभायात्रा निकाली गई। इस दौरान बाबा की चरण पादुका को पालकी में विराजमान कर शहर भ्रमण पर निकाला गया, जिसका जगह-जगह पुष्प वर्षा व आरती उतारकर स्वागत किया गया। इस दौरान श्रद्धालुओं द्वारा स्वच्छता का संदेश देते हुए स्वागत के बाद सड़क पर फैली डिस्पोजल सामग्री साफ भी की।

वार्षिकोत्सव के चलते सुबह 10ः30 पर शोभायात्रा शुरू हुई, जिसमें शामिल भक्त गुलाब बाबा के भजन व जयकारे लगाते हुए चल रहे थे। इस दौरान करीब दो 2 किलोमीटर लंबी पादुका यात्रा में हजारों भक्त कतारबद्ध होकर चल रहे थे। कई भक्त श्री गुलाब बाबा की चरण पादुका पालकी को अपने कंधे पर विराजमान कर आगे-बढ़ते जा रहे थे। नगर शोभायात्रा में घोड़ा, बग्गी, बैण्ड, बुंदेलखंडी लोक नर्तकों एवं महाराष्ट्र के भक्त नर्तकों के साथ पालकी के आगे स्वयंसेवी भक्त महिला एवं पुरूष झाडू लगाते हुए चल रहे थे। वहीं पालकी को अपने कंघे पर लेकर चलते भक्तों को बिछाई-बिछाते चल रहे थे।

देश के कई स्थानों से आए भक्त, जगह-जगह हुआ स्वागत

हर वर्ष की तरह 4 एवं 5 दिसम्बर को श्री गुलाब बाबा मंदिर सागर का वार्षिक उत्सव मनाया जाता है। इस वर्ष 11वें वार्षिक उत्सव में भी शामिल होने के लिए महाराष्ट्र के मुंबई, नासिक, औरंगाबाद, काटेल, टाकरखेड़ा आदि गुजरात के बड़ोदरा, नंदूरबार, उत्तरप्रदेश, छत्तीसगढ़ सहित संपूर्ण मध्यप्रदेश से हजारों भक्त शामिल हुए। शोभायात्रा के नगर भ्रमण के बाद पुनः मंदिर के मुख्य द्वार पर पहुंचने पर ट्रस्टी किरण पारासरे एवं मंदिर अध्यक्ष डॉ. भरत आनंद वाखले, उपाध्यक्ष डॉ. हरीशंकर साहू, डालचंद पटेल, सचिव श्याम सोनी ने आरती कर पालिकी की आगवानी की। जयंत पारासरे, डॉ. रजनीश विश्वकर्मा, सुधीर पलया ने पालिकी को अपने कंधों, बाबाजी की छतरी को नीतेश शर्मा, प्रवीण जग्गी अब्दागिरी (स्वास्तिक) को राजू गंगवानी, मनोज संगतानी ने लेकर गुलाब पीठ पर पुनः विश्राम कराया। शोभायात्रा का जगह-जगह स्वागत किया गया।

शाम को हुए रंगारंग कार्यक्रम, प्रतिमाओं की हुई प्राण-प्रतिष्ठा

वार्षिकोत्सव के दौरान बुधवार की शाम मंदिर परिसर में आयोजित यज्ञ के यज्ञाचार्य पं. नितिन मोडक गुरूजी, मुंबई से पधारी ट्रस्ट की ज्योति ताई अलमेडा, जयंत पारासरे के साथ भक्तों ने आरती कर भजन संध्या का शुभारंभ किया जिसमें गुलाब गुंजन ऑर्केस्ट्रा के गायकों की स्वर लहरियों पर भक्तों को थिरकने पर मजबूर कर दिया। अर्धरात्रि तक चली भजन संध्या में एक से बढ़कर एक प्रस्तुतियां हुईं साथ ही श्री गुलाब बाबा जी के साथ के भक्तों का सम्मान भी हुआ। गत रात्रि राधे राधे संकीर्तन मण्डली के गायकों ने सभी को राधामय कर दिया। यज्ञ समारोह में नवीन मूर्तियों की प्राण प्रतिष्ठा के जलाधिवास, अन्नााधिवास, शयनाधिवास, पंचगव्य-पंचरस अभिषेक पूजन एवं हवन पूजन, अति आकर्षक भावविभोरमय संध्या आरती भी महाराष्ट्र के भक्तों द्वारा की गई।

कचरा साफ करते हुए दिया स्वच्छता का संदेश

मंदिर व्यवस्थापक सतीश विश्वकर्मा ने बताया कि नगर शोभायात्रा के दौरान नगर के भक्तों, समाजसेवियों ने जगह-जगह आरती कर स्वागत किया। इस दौरान लोगों ने प्रसादी लेकर डिस्पोजल सड़कों पर फेंक दिए, लेकिन नरसिंहगढ़(दमोह) के भक्त शोभा यात्रा के पीछे-पीछे सड़क पर स्वागत के बाद फेंकी गई डिस्पोजल को एकत्रित कर चल रहे थे। शोभायात्रा इतनी लंबी थी कि कटरा जामा मस्जिद के आसपास कुछ समय जाम भी नजर आया, लेकिन पुलिसजवानों के साथ मंदिर के स्वयं सेवक यातायात व्यवस्था को सुचारू बनाए थे। शोभायात्रा में एंबुलेंस में डॉ. जीवनलाल साहू अपने पूर्ण स्टाफ सहित शामिल थे तो वहीं नितेश शर्मा अपने भक्त साथियों के साथ श्री बाबाजी की पालकी के आगे झाडू लगाकर कपड़ा बिछाते हुए चल रहे थे।

आज भंडारे के बाद होगी आतिशबाजी

वार्षिकोत्सव के अवसर पर 5 दिसंबर को हर वर्ष की तरह महाप्रसादी (भंडारा) का आयोजन होगा, जिसमें हजारों भक्त प्रात? 11?32 से रात्रि 10?32 तक पूर्ण सम्मान, सुरक्षा एवं व्यवस्था के साथ भंडारा ग्रहण करेंगे। शाम 7?32 पर वृंदावन के विक्की सुनेजा ग्रुप (मधुवन आर्ट ग्रुप) द्वारा विशेष झांकी एवं नृत्य के साथ सांस्कृतिक संध्या का आयोजन होगा। इसके बाद रात्रि 11?32 पर श्री गुलाब बाबा चरण पादुका पालकी को गुलाब शक्तिपीठ से (गुलाब सत्संग हाल) से गुलाब बाबा मंदिर तक अपने कंधों पर लेकर अंदर ले जाएंगे, जहां आरती, प्रसादी वितरण, आतिशबाजी एवं ढमाल पार्टी के साथ नृत्य के बाद उत्सव का समापन होगा। मंदिर ट्रस्ट की योगिनी वाखले ने नगर के सभी धर्मप्रेमियों से महाप्रसादी (भंडारा) में शामिल होने की प्रार्थना की है।

फोटो 0412 एसए 9,10 सागर। पादुका पालकी यात्रा के दौरान नृत्य करती हुई श्रद्धालु।

फोटो 0412 एसए 11 सागर। शोभायात्रा के दौरान बड़ी संख्या में श्रद्धालु शामिल हुए।

फोटो 0412 एसए 12 सागर। पालकी में भक्त गुलाब बाबा का चित्र व पादुका विराजमान करके चल रहे थे।

फोटो 0412 एसए 33 सागर। गुलाब बाबा मंदिर परिसर में भजनों की प्रस्तुति देते हुए कलाकार।

फोटो 0412 एसए 34 सागर। इस दौरान बड़ी संख्या में भक्त मौजूद थे।

Posted By: Nai Dunia News Network