तापमान घटने के बाद भी सामने आ रहे डेंगू के मामले, सीजन में 160 मरीज डेंगू पॉजीटिव, अब स्वाइन फ्लू का खतरा

सागर। नवदुनिया प्रतिनिधि

डेंगू का वायरस लगातार कहर ढा रहा है। ठंड का सीजन शुरू होने और तापमान घटने के बाद भी डेंगू का कहर कम होने का नाम नहीं ले रहा है। सामान्यतः 28 डिग्री से तापमान नीचे जाने के बाद डेंगू का मच्छर निष्क्रिय हो जाताा है और डेंगू का प्रकोप कम हो जाता है, बावजूद इसके 25 डिग्री तापमान के बाद भी डेंगू का मच्छर एक्टिव है। पिछले 8 दिन में डेंगू के दो दर्जन से अधिक मामले सामने आए हैं। गनीमत यह है कि मरीज स्वस्थ हैं। सागर में अभी तक सीजन में डेंगू के 160 से अधिक मामले सामने आ चुके हैं।

सागर शहर के करीब दो दर्जन वार्ड डेंगू के मामले में काफी संवेदनशील हैं। यहां से लगातार पॉजिटिव मामले सामने आ रहे हैं। डेंगू संदिग्ध मरीजों की संख्या तो हजारों में पहुंच गई है। वैसे पूर्व के वर्षों के अनुसार पूरा सागर जिला ही डेंगू व स्वाइन फ्लू के मामलों में डेंजर जोन में शामिल है। इस साल शहर के अंदर निगम सीमा में सबसे ज्यादा मामले सामने आए हैं। सोमवार तक जिले में डेंगू के कुल मरीजों की संख्या 160 के पार निकल गई है। 26 नवंबर के बाद से 4 दिसंबर के बीच डेंगू के दो दर्जन से अधिक मरीजों को मैक एलाइजा से डेंगू पॉजीटिव की पुष्टि की गई है। मलेरिया विभाग के आंकड़ों में यह संख्या लगातार बढ़ रही है।

सागर के यह इलाके डेंजर जोन में

कैंट व सदर क्षेत्र, सुभाषनगर, मोमिनपुरा, विट्लनगर, तुलसीनगर, शनीचरी, शुक्रवारी, तिली का इलाका, बड़ा बाजार के वार्ड, गोपालगंज, कटरा वार्ड सहित घनी आबादी वाले अधिकांश वार्ड और मुख्य शहर के वार्ड विशेष रूप से डेंगू के मामले में संवेदनशील हैं।

लगातार लार्वा सर्वे के बावजूद कंट्रोल नहीं हो रहा

सागर में डेंगू का दो साल बाद आउटब्रेक हुआ है। राहत की बात यह रही कि इस साल डेंगू से सीधे तौर पर कोई मौत दर्ज नहीं हुई हैं। हालांकि मोमिनपुरा में एक छोटी बच्ची की डेंगू से डेथ की जानकारी दी जा रही है। मैक एलाइजा जांच से पहले ही उसकी मौत हो गई है। मलेरिया विभाग दलबल के साथ शहर के जिस भी हिस्से से डेंगू के केस सामने आए वहां लार्वा सर्वे कराकर मच्छर का लार्वा नष्ट कराकर दवाओं व स्प्रे कराता रहा है। इधर नगर निगम प्रशासन डेंगू कंट्रोल के लिए साफ-सफाई और फॉगिंग भी कराता है। बावजूद इसके मच्छरों का प्रकोप कम नहीं हुआ। फिलहाल 25 डिग्री के आसपास तापमान पहुंचने के बाद भी मच्छरों की भरमार है।

160 से अधिक मरीज सामने आ चुके हैं

सीजन में डेंगू के करीब 160 से अधिक मामले सामने आ चुके हैं। डेंगू कंट्रोल के लिए स्वास्थ्य विभाग लगातार लार्वा सर्वे और लार्वा नष्ट कराकर दवाओं का छिड़काव और स्प्रे करा रहा है। वैसे ठंड का सीजन प्रारंभ होने के बाद डेंगू का असर कम हो जाता है। विभाग लगातार नजर बनाए हुए है। लोगों को भी इस दिशा में जागरूक किया जा रहा है।

-डॉ. साजिया तबस्सुम, जिला मलेरिया अधिकारी, सागर।

Posted By: Nai Dunia News Network