सतना। नईदुनिया प्रतिनिधि

नगर पालिक निगम ने टाउन हाल प्रांगण पर आयोजित एक कार्यक्रम में लॉटरी पद्घति से पीएम आवास हितग्राहियों को ढांचे का आवंटन किया गया। इस सनसनीखेज सच का खुलासा तब हुआ जब निगम प्रशासन द्वारा अपनाई गई लाटरी पद्घति से आवंटित नंबर को देखने हितग्राही बाईपास उतैली स्थित स्मॉर्ट सिटी पर अपना आशियाना तलाशने पहुंचे। यहां लाटरी पद्घति से आवंटित नम्बर के आशियाने को अपनी ललचाई आंखों से देखने हितग्राहियों ने यहां स्मार्ट सिटी में आवास दिखाने हेतु बनाए गए इंचार्ज विपिन कुमार सिंह से संपर्क किया और उनसे अपने-अपने आवंटित ब्लाक के नंबर की जानकारी साझा की। इस दौरान यहां के इंचार्ज ने जैसे ही हितग्राहियों को उनके बताए गए ब्लॉक के आवास के कंप्लीट न होने की बात बताई वैसे ही उनके चेहरे में मायूसी आ गई। फिर भी तसल्ली के लिए हितग्राही जब मौके पर पहुंचे तो उन्हें वहां अपने आशियाने का महज ढांचा ही खड़ा सामने नर आया।

उठे कई सवाल अब ऐसे में सवाल यह उठता है कि जब आवास बनकर कंप्लीट नहीं हुए थे तो फिर हितग्राहियों को आवास का आवंटन क्यों किया गया। इस मामले में हितग्राहियों का भी कहना है कि कंप्लीट होने के बाद ही हितग्राहियों को आवासों का आवंटन किया जाना चाहिए था। इस मामले में यह बात भी सामने आई है कि जिस हितग्राही ने लाटरी पद्घति से आवंटन के पूर्व एकमुश्त राशि निगम प्रशासन के कोष में जमा कर दी है। उन्हें उनके पसंद का आवास आवंटित कर दिया गया और ऐसे आवासों के नंबर को लाटरी पद्घति में सम्मलित नहीं किया गया। निगम प्रशासन की यह प्रक्रिया सवालों के घेरे में है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local