चित्रकूट, सतना। मध्यप्रदेश और उत्तर प्रदेश की सीमा पर तराई इलाके में आतंक का पर्याय बन चुके बबुली कोल को पुलिस ने एकनकाउंटर में मार गिराया है। इसके गिरोह का मप्र और यूपी में अपहरण और डकैती जैसी कई घटनाओं में हाथ रहा है। बबुली डोंडा मानिकपुर उत्तर प्रदेश का रहने वाला था। उसके खिलाफ मध्यप्रदेश और यूपी पुलिस ने साढ़े 6 लाख रुपए का इनाम घोषित किया था। बताया जाता है कि बबुली बचपन से ही इसी जंगल में पला-बढ़ा था, उसे सीमा क्षेत्र से लगे जंगल का एक-एक रास्ता पता था। इसी कारण वह पुलिस से मुठभेड़ होने पर तुरंत बचकर भाग निकलता था।

दोनों राज्यों की पुलिस ने इसके पहले कई बार उसे पकड़ने की कोशिश की, लेकिन वो हाथ नहीं लगा। एक बार 2107 में आमने-सानमे गोलियां चली, इस दौरान बबुली कोल भाग निकला था। लेकिन यूपी पुलिस एसआई शहीद हो गए थे और गोली लगने से एक जवान घायल हो गए थे। हाल ही में गिरोह ने एक किसान का अपहरण किया था, इसके बाद उसे फिरौती लेकर छोड़ा गया था।

Posted By: Prashant Pandey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना