सतना। पुलिस मुठभेड़ के दौरान बबुली कोल व लवलेश कोल के मारे जाने का दावा करने वाली सतना पुलिस ने गैंग के अस्थाई सदस्य व साथी लाली कोल को शनिवार को गिरफ्तार कर लिया। पिछले दिनों लाली कोल की मां मुन्नी कोल का सोशल मीडिया में एक वीडियो वायरल हुआ था जिसमें उसने कहा था कि दोनों डकैतों को उसके बेटे ने ही मारा था।

अपनी मां के इस बयान पर लाली ने कहा कि उसकी मां मानसिक रूप से विक्षिप्त है। उसके द्वारा कही गई बात झूठी थी। जबकि लाली कोल के चचेरे भाई छेदीलाल रावत सोशल मीडिया में जारी एक वीडियो में यह कहा था कि लाली कोल पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर चुका है। इस बयान पर भी लाली ने कहा कि छेदीलाल झूठ बोल रहा है।

गोली की आवाज सुनकर हो गया था फरार

पुलिस कंट्रोल रूम में लाली कोल को मीडिया के समक्ष पेश करते हुए एसपी रियाज इकबाल ने बताया कि लाली कोल कुछ माह पहले ही बबुली व लवलेश कोल के संपर्क में आया था। पूछताछ में लाली कोल ने बताया कि लेदरी के जंगल में पुलिस और डकैतों के बीच मुठभेड़ के दौरान वह डकैतों का खाना पहुंचाने के लिए जा रहा था। तभी गोलियों की आवाज सुनकर वह वहां से फरार हो गया था। इसके बाद से पुलिस उसकी तलाश कर रही थी। शनिवार को पुलिस को सूचना मिली कि लाली अपने गांव में मौजूद है। धारकुंडी, नयागांव व मझगवां पुलिस ने दबिश देकर लाली को गिरफ्तार कर लिया।

अपहरण की घटना में था शामिल

एसपी रियाज इकबाल ने बताया कि लाली कोल हरसेड गांव से किसान अवधेश द्विवेदी के अपहरण के मामले में शामिल था। वह वारदात के बाद डकैत बबुली के साथ जंगल चला गया था। वहीं लाली ने मीडिया को बताया कि वह डकैत बबुली से काफी परेशान था। डकैत उस पर मदद करने का दबाव बनाते थे। इसकी वजह से वह उन्हें खाने-पीने की सामग्री पहुंचाने का काम करता था। लाली कोल ने बताया कि डकैत बबुली व लवलेश से पूरा गांव परेशान था।

- लाली कोल को उसके गांव से गिरफ्तार किया गया है। उसे रिमांड पर लेकर पूछताछ की जाएगी। - रियाज इकबाल, एसपी सतना