सतना। नईदुनिया प्रतिनिधि

जिले के अमरपाटन थाना क्षेत्र के ग्राम खोखम निवासी 13 वर्षीय जानू कोल सोमवार सुबह अपने तीन दोस्तों के साथ मछली पकड़ने गया था लेकिन वापस नही लौटा। जिसका मंगलवार सुबह शव खेत में पड़ा मिला। ग्रामीणों ने किशोर के शव को ग्राम सेमरी के खेत में हाथ-पैर बंधे हुए देखा और स्वजनों को सूचना दी। स्वजनों ने हत्या की आशंका जताई है। घटना की सूचना पर अमरपाटन पुलिस और थाना प्रभारी संदीप भारतीय मौके पर पहुंचे और जांच की तो बालक के पैर पर उसका ही पैंट फंसा हुआ था। पुलिस को जांच में प्रथम दृष्टया पता चला कि मछली मारने के दौरान दोपहर आंधी तूफान के वक्त घबराहट और छटपटाने की वजह से वह गिर गया जिसके बाद उसके दोस्तों ने उसे उठाया तो वह अचेत हो गया। दोस्त उसे वहीं छोड़कर घर आ गए थे। घटना की सूचना पर पुलिस अधीक्षक आशुतोष गुप्ता, एसडीओपी लोकेश डाबर व पुलिस बल भी मौके पर पहुंच गया।

नहीं मिले चोट के निशान : थाना प्रभारी अमरपाटन के अनुसार 13 वर्षीय जानू कोल पिता बुद्धू कोल निवासी खोखम गांव सोमवार सुबह अपने तीन दोस्तों के साथ पास आदिवासी गांव से दो किलोमीटर दूर नरतला तालाब में मछली मारने गया था। इसी दौरान एक दोस्त वापस आ गया और दो दोस्तों के साथ वह मछली मार रहा था तभी दोपहर साढ़े तीन बजे आंधी-तूफान आई तो दो अन्य दोस्त भी घर आ गए। जानू के वापस नहीं आने पर रात भर उसे ढूंढा गया लेकिन दूसरे दिन मौके पर उसका शव मिला। पुलिस ने बताया कि जांच में किसी तरह के चोट के निशान नहीं मिले हैं। बताया जा रहा है कि जानू बीते कई दिनों से बीमार था और शारीरिक रूप से कमजोर भी था। उसे रात के समय दिखता भी नहीं था और उसे रतौंथी की बीमारी थी। संभवतः आंधी तूफान के वक्त जानू छटपटा गया और बार-बार जमीन पर बैठ रहा था। जिसे उठाने की कोशिश अन्य बच्चे कर रहे थे लेकिन वह गिर गया तो उसे दो बच्चे छोड़ कर वापस आ गए। उसके छटपटाने की वजह से प्रथम दृष्टया मौत हुई है। पोस्टमार्टम का इंतजार पुलिस कर रही है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close