पन्ना, नईदुनिया प्रतिनिधि। सुप्रीम कोर्ट द्वारा अनुसूचित जाति-जनजाति एक्ट में आरोपियों की गिरफ्तारी पर रोक लगाने के आदेश को वापस लेने की मांग को लेकर अनुसूचित जाति-जनजाति व पिछड़ा वर्ग युवा संघ द्वारा पन्ना बंद का आयोजन किया गया था। सोमवार दोपहर 11 बजे छत्रशाल पार्क में पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार एकत्रित होकर शहर के मुख्य मार्गों से उग्र प्रदर्शन करते हुए रैली निकालकर बाजार बंद कराते हुए ज्ञापन सौंपा गया।

कलेक्ट्रेट में नारेबाजी करते हुए किया प्रदर्शन-

सुप्रीम कोर्ट द्वारा लगाई रोक के आदेश को वापिस लेने पहले कलेक्ट्रेट के गेट के बाहर जमकर नारेबाजी करते हुए गेट खोलकर कलेक्ट्रेट परिसर में प्रवेश कर वहां भी नारेबाजी कर एसडीएम को महामहिम राष्टपति के नाम ज्ञापन सौंपा गया। दिये गये ज्ञापन में लेख किया गया कि सुप्रीम कोर्ट द्वारा अनुसूचित जाति-जनजाति अधिनियम के तहत दर्ज प्रकरण में दोषी व्यक्तियों की तत्काल गिरफ्तारी पर रोक लगाने के आदेश को वापिस लिये जाने की मांग की गई है।

छत्रशाल पार्क से शुरू हुई रैली-

एससी-एसटी एक्ट में किये गये संशोधन के खिलाफ में आज छत्रसाल पार्क से एक विशाल रैली का आयोजन किया गया था जो कोतवाली से होते हुए गांधी चौक, कलेक्ट्रेट, अजयगढ़ चौराहा, बड़ा बाजार, कटरा मोहल्ला होते हुए वापिस छत्रसाल पार्क पहुंची इस बीच रैली में शामिल युवाओं द्वारा पूर्व से खुली दुकानों को नारेबाजी करते हुए बंद कराया गया। हालांकि इस बीच कोई विशेष घटना घटित नहीं हुई जबकि रैली में कुछ लोग हांथों में डंडा लेकर प्रदर्शन करते रहे।

हर चुनौती से निपटने के लिये तैयार रही पुलिस-

निकाली गई रैली में पुलिस-प्रशासन मुस्तैद दिखा व हर चुनौती से निपटने के लिये तैयार रहा। पूरी रैली में पुलिस की सख्त निगाह उन लोगों पर रही जो माहौल को बिगाड सकते थे। हालांकि रैली का नेतृत्व करने वाले लोग अपील करते रहे कि हमें शांतिपूर्वक रैली करनी है और इसमें कोई किसी प्रकार से कानून अपने हांथ में न ले। रैली में आक्रोश था फिर भी पुलिस और जनता के सहयोग से पूरी रैली में कोई वारदात नहीं हो सकी।

शाहनगर में बंद का नहीं रहा असर-

जिले की शाहनगर तहसील में बंद का कोई असर नहीं दिखा और रोज की तरह ही दुकानें खुलीं रहीं। बताया गया कि वहां कोई रैली प्रदर्शन कार्यक्रम का आयोजन भी नहीं किया गया।