सतना। नईदुनिया प्रतिनिधि

शहर के कोलगवां थाना अंतर्गत कृष्ण नगर में बारदाना गोदाम में भीषण आग लगने से शनिवार सुबह हड़कंप मच गया। आग इतनी विकराल थी कि इसे बुझाने में कई घंटे लग गए और दमकल कर्मियों को कड़ी मशक्कत करनी पड़ी। लगभग 25 दमकल के वाहनों ने आग पर काबू पाया। बताया जा रहा है कि गोदाम में आग से बचाव के साधन भी उपलब्ध नहीं थे।

दमकल अधिकारी आरपी सिंह परमार ने के अनुसार शनिवार सुबह तड़के आग लगने की सूचना मिली थी जिसके बाद मौके पर दमकल भेजा गया और कई घंटे के बाद आग को काबू में पाया गया है। आग से हुए नुकसान का आंकलन किया जा रहा है। वहीं क्षेत्रवासियों का कहना था कि आग सुबह-सुबह लगी लेकिन जब आस-पास धुआं फैला और लोगों ने देखा तो हल्ला मचा जिसके कारण आस-पास के लोग भी जाग गए और दमकल को सूचना दी। गनीमत रही कि रहवासी इमारतों में आग नहीं पहुंची। जिस स्थान पर यह गोदाम था वह रिहायशी इलाका है। लोगों ने कहा कि इस प्रकार के रिहायशी इलाके में बारदाना जैसे गोदाम बनाकर लोगों की जान के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है।

बंद होने चाहिए शहर से ज्वलनशील गोदाम : सतना शहर में रिहायशी इलाकों में लगातार शिकायत के बावजूद गोदाम, ज्वलनशील पदार्थों का स्टाक किया जा रहा है। जबलपुर में अस्पताल में हुए अग्नि हादसे ने पूरे प्रदेश को हिला कर रख दिया है जिसपर अग्नि सुरक्षा मापदंडों के तहत कार्रवाईयां शुरू हो गई हैं लेकिन सतना में इस प्रकार की कार्रवाई मात्र दिखावे के लिए होती है। इस अग्नि हादसे में किसी की जान तो नहीं गई लेकिन आग आस-पास के मकानों में फैलती तो हादसा बड़ा हो सकता था। जिसे लेकर नागरिकों ने चिंता व्यक्त करते हुए प्रशासन से कार्रवाई की मांग की है। शहर में लकड़ी के टाल और बड़े-बड़े फर्नीचर के गोदाम भी घनी बस्तियों के बीच संचालित हैं जिनपर कार्रवाई कभी नहीं होती।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close