सतना। नईदुनिया प्रतिनिधि

बुधवार को सतना में जिला पंचायत के सभी 26 वार्डों में ओबीसी और एससी-एसटी के लिए आरक्षण की प्रक्रिया पूरी कर ली गई। इसके साथ जिले की 8 जनपद पंचायतों के अध्यक्ष पद भी आरक्षित कर दिए गए। इस बार किसी भी जनपद के अध्यक्ष पद के लिए ओबीसी वर्ग के पुरुष चुनाव नहीं लड़ पाएंगे।

जिला पंचायत में भी ओबीसी के खाते में सिर्फ 4 वार्ड ही आए हैं जिनमें महिलाओं के लिए आरक्षित 2 वार्ड शामिल हैं। दूसरी तरफ भोपाल से आ रही जानकारी के अनुसार सतना महापौर का पद ओबीसी के लिए आरक्षित हो गया है। बुधवार को जिला पंचायत सतना के 26 वार्डों और 8 जनपदों के अध्यक्ष पद के लिए आरक्षण की प्रक्रिया पूरी की गई। इसमें कलेक्टर और विहित प्राधिकारी अनुराग वर्मा ने जिला पंचायत सभागार में पूरी कराई। इस दौरान एसडीएम सिटी सुरेश जाधव और जिला पंचायत के परियोजना अधिकारी डा. गौरव शर्मा भी मौजूद रहे। वर्ष 2023 में संभावित पंचायत चुनाव के लिए जिला पंचायत सतना के 26 वार्डो में से 13 वार्ड अनारक्षित श्रेणी में हैं। जिनमें 6 वार्ड अनारक्षित महिलाओं के लिए आरक्षित किए गए हैं। दो वार्ड ओबीसी पुरुष और 2 वार्ड ओबीसी महिला के हिस्से में आए हैं। जबकि 5 वार्ड अनुसूचित जाति और 4 वार्ड अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित हुए हैं।

बिना तैयारी के पहुंचे ननि अधिकारियों को कलेक्टर ने फटकारा

नगर निगम के वार्डों का आरक्षण कराने बिना होमवर्क के पहुंचे नगर निगम के अधिकारियों को कलेक्टर की जमकर खरीकोटी सुननी पड़ी। कलेक्टर के पूछने पर भी वे वार्डों के पूर्व आरक्षण की स्थिति नहीं बता पाए। जिसके कारण कई बार कलेक्टर ने अधिकारियों को फटकार लगाई।

-किस जनपद में कौन सा वर्ग-

जनपद वर्ग

अमरपाटन अनारक्षित

मैहर ओबीसी

नागौद अनारक्षित महिला

मझगवां अनारक्षित महिला

रामपुर अनारक्षित

रामनगर अनुसूचित जाति

सोहावल अनुसूचित जनजाति

उचेहरा अनारक्षित महिला

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close