सतना, नईदुनिया प्रतिनिधि। सतना के उचेहरा तहसील अंतर्गत अतरवेदिया के किसान आज फिर हाईटेंशन बिजली लाइन के टावर में चढ़ गए हैं और आत्महत्या की चेतावनी दे रहे हैं। पावर ट्रांसमिशन कंपनी द्वारा खेतों में लगाए गए टावर और खींची गई बिजली लाइन का उचित मुआवजा नहीं देने के विरोध में उचेहरा तहसील के दर्जनों गांवों के किसान बीते एक माह से अनशन पर हैं। हालत यह है कि बीते एक साल में पांचवी बार किसान टावर पर चढ़कर प्रदर्शन कर रहे हैं। अनशन के बाद भी जब उनकी सुनने कोई नहीं पहुंचा तो आज सुबह से आधा दर्जन किसान एकजुट होकर टावर पर चढ़ गए और मांगें नहीं मानने पर आत्महत्या की चेतावनी दे रहे हैं। सूचना पाकर उचेहरा थाना की पुलिस मौके पर पहुंची और किसानों को नीचे उतारने का प्रयास किया गया।

यह है किसानों की मांग

उचेहरा तहसील के कई गांवों में यही स्थिति है, जहां के किसानों का आरोप है कि उनके खेतों में बिजली कंपनी ने बड़े-बड़े टावर लगाकर बिजली लाइन खींची है जिसके मुआवजा राशि के लिए उन्होंने पहले एसडीएम और उसके बाद कलेक्टर को भी आवेदन दिया था। इस मामले में एसडीएम और कलेक्टर न्यायालय ने मुआवजा जारी करने आदेश भी दे दिया था, लेकिन बिजली कंपनी ने उन्हें अब तक मुआवजा नहीं दिया है और हर बार किसी न किसी रूप में बहाना बना दिया जाता है। किसानों की मांग है कि उन्हें 12 लाख रुपये प्रति टावर व तीन हजार रुपये प्रति रनिंग मीटर की दर से तार बिछाए जाने की मुआवजा राशि दी जाए।

Posted By: Mukesh Vishwakarma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close