सतना। नईदुनिया प्रतिनिधि

नगर निगम ने सिविल लाइन से राजेन्द्र नगर मुख्य मार्ग के किनारे अवैध रूप से दुकान चलाने वालों तथा फुटपाथ पर होर्डिंग, टीन शेड लगाकर अतिक्रमण करने वालों पर कार्रवाई की है। अतिक्रमण दस्ता अपनी यह कार्रवाई शाम तक जारी रही। नगर निगम के अतिक्रमण दस्ते सिविल लाइन चौराहा और राजेन्द्र नगर क्षेत्र में सड़क किनारे फुटपाथ पर अतिक्रमण कर दुकान सजाने वाले फुटपाथ होर्डिंग लगाने वाले तथा टीन शेड लगाकर दुकान रखने वालों पर कार्रवाई की है। दस्ते ने जहां होर्डिंग हटवाये वहीं सब्जी की दुकान लगाने वालों को हटवाया।

बताया गया है कि फुटपाथ के ऊपर बाउण्ड्री बनाकर भी दुकानें संचालित की जा रही थी, जिन्हें हटाया गया है। सिविल लाइन से धवारी मोड़ तक सड़क किनारे बने फुटपाथ में अवैध रूप से कब्जा किया गया था। जिसे हटाने की कार्रवाई की गई है। ननि का यह दस्ता सुबह 10 बजे से इस कार्रवाई में जुट गया। सिविल लाइन और राजेन्द्र नगर का अतिक्रमण हटाने के बाद राजेन्द्र नगर से धवारी चौराहा और फिर सिटी कोतवाली चौराहे तक कार्रवाई की गई।

बाबा दयालदास के वर्सी उत्सव की तैयारियां शुरू

सतना। नईदुनिया प्रतिनिधि

सतगुरु बाबा दयालदास साहिब सतगुरु बाबा मेहरशाह साहिब दरबार में महंत स्वामी पुरषोत्तम दास के सानिध्य में पूज्य पंचायत, समाजसेवियों व सेवादारियों की संयुक्त बैठक संपन्न हुई। बैठक में जनेऊ संस्कार पर भी विस्तृत चर्चा हुई । मीडिया प्रभारी राजकुमार बजाज ने बताया कि हर वर्ष के भांति इस वर्ष भी परमपूज्य सतगुरु श्री 1008 महंत बाबा दयालदास साहिब का 37वां वर्सी उत्सव व सतगुरु श्री 1008 महंत बाबा मेहरशाह साहिब का यादगार दिवस धूमधाम से मनाने के लिए उप समितियों के गठन के साथ समिति प्रमुखों की नियुक्ति की गई। साथ ही सुरक्षा ए सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ संत. महात्माओं के कार्यक्रमों की समीक्षा करते हुए तैयारियों को अंतिम रूप दिया गया। राजकुमार बजाज ने आगे बताया कि महंत स्वामी पुरषोत्तम दास के सानिध्य में 24 से 26 मई को रोजाना शाम 5 से 7 बजे तक भाई अर्जुनदास दरबार कृष्णनगर 25 मई को हरिओम दरबार सिंधी कालोनी 26 मई को आई दरबार गौशाला चौक में होगा। 27 मई को श्री अखंड पाठ आरंभ के साथ कार्यक्रम आरंभ हो जाएंगे। बाहर से पधारे संत महात्मा व भजनीक कलाकार महंत स्वामी माधवदास इंदौर, बलराम भैया, एकादशी वालेद्घ चकरभाठा बिलासपुर, भगत उदय मुंबई व आकाश एंड पार्टी कटनी सहित कई संत महात्माओं के दर्शनों के साथ अमृतवाणी का लाभ मिलेगा। जनेऊ संस्कार के लिए भी संपर्क कर सकते हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network