सतना। नईदुनिया प्रतिनिधि

एक व्यक्ति को डीआईजी बनकर थाना प्रभारी को मोबाइल में क्षेत्र की समस्या बताना और व्हाट्स ऐप व मैसेज करना इतना भारी पड़ गया कि अब उसे जेल की हवा खानी पड़ रही है। दरअसल मैहर थाना प्रभारी को डीआईजी रीवा रेंज अनिल सिंह कुशवाह बनकर व्हाट्सएप पर मैसेज, फोटो और वीडियो भेजने वाले शख्स को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

थाना प्रभारी मैहर डीपी सिंह चौहान ने बताया कि उनके मोबाइल फोन पर मोबाइल नंबर 9981286610 से कोई व्यक्ति बार बार मैसेज, फोटो और वीडियो भेजता है जो कि अपने मोबाइल हाट्सएप पर डीआईजी रीवा रेंज अनिल कुशवाह की पुलिस वर्दी और टोपी सहित फोटो लगा डीपी में लगा रखा है।

उक्त मोबाइल नंबर से वह कई बार मैहर थाना क्षेत्र की समस्या से संबंधित निर्देश एवं फोटो एवं वीडियो भेज रहा था। जब थाना प्रभारी द्वारा इस संबंध में डीआईजी रीवा से चर्चा की गई तो उन्होंने उक्त नंबर उनका होने से इनकार कर दिया और ऐसे किसी भी फोटो, वीडियो भेजने से भी मना कर दिया जिसके बाद उक्त नंबर के संबंध में जांच एवं तस्दीक किया गया तो वह सिम मनीष गर्ग निवासी पांडेय टोला पुरानी बस्ती मैहर के नाम पर दर्ज होना पाया गया। उक्त आरोपित आरोपी मनीष गर्ग द्वारा डीआईजी जैसे महत्वपूर्ण पद पर न होते हुए अपने आपको डीआईजी होना बताते हुए फोन एवं मैसेज किए गए। इस अपराध पर पुलिस ने आरोपित के खिलाफ कृत्य धारा 170 आईपीसी के तहत घटित करना पाए जाने से आरोपित के विरुद्ध अपराध पंजीबद्ध कर 45 वर्षीय मनीष गर्ग पिता शिवानंद गर्ग निवासी पांडेय टोला पुरानी बस्ती मैहर को गिरफ्तार किया गया जिसके कब्जे से उक्त सिम नंबर मोबाइल सहित जब्त किया गया है। आरोपित के पास से कई फर्जी प्रेस आई कार्ड भी बरामद हुए हैें जिसकी जांच की जा रही है। आरोपित को इस कृत के चलते गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया गया जहां से उसे जेल भेज दिया गया है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags