सतना। नईदुनिया प्रतिनिधि

जिले के रैगांव विधानसभा क्षेत्र में 30 अक्टूबर को मतदान होना है। इसके लिए चुनावी रण तैयार हो गया है और प्रत्याशी चुनावी मैदान में उतर चुके हैं। क्षेत्र में जातिगत समीकरण बनने से हर प्रत्याशी अपने पक्ष में मतदाताओं को साधने में लगा हुआ है। रैगांव में सबसे ज्यादा, बागरी, चौधरी और कोरी समाज के समीकरण बन रहे हैं।

यही कारण है कि सबसे पहले कांग्रेस ने यहां चौधरी समाज से आने वाली महिला प्रत्याशी कल्पना वर्मा को उतारा है तो भाजपा ने बागरी समाज से आने वाली प्रतिमा बागरी को। इन दो पार्टियों के बीच बड़ा घमासान होना तय है। इनके समर्थन में स्टार प्रचारकों की सभा भी शुरू होना शुरू हो गई हैं। भाजपा प्रत्याशी प्रतिमा बागरी के समर्थन में आज मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान क्षेत्र के सिमरवारा में सभा को संबोधित करेंगे। वे दोपहर 12.30 बजे पहुंचेंगे जहां वे दोपहर दो बजे तक सभा को संबोधित करेंगे। वहीं 19 अक्टूबर को रैगांव के सिंहपुर में कांग्रेस प्रत्याशी कल्पना वर्मा के समर्थन में पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ बड़ी चुनावी सभा को संबोधित करेंगे। प्रदेश में हो रहे उप चुनाव में सतना की रैगांव सीट दोनों पार्टियों के लिए साख का सवाल बन गई है। क्योंकि यहां किसकी हार और किसकी जीत होती है यह मतदाता ही तय करेंगे।

19 में से 16 प्रत्याशी चुनाव मैदान में उतरे-

सतना के रैगांव विधानसभा क्षेत्र के उप चुनाव में 16 प्रत्याशी चुनाव मैदान में उतर चुके हैं। नाम निर्देशन पत्र के वापसी की अंतिम तिथि में तीन उम्मीदवारों ने अपना पर्चा वापस ले लिया। जिसमें 19 में से अब 16 प्रत्याशी ही शेष बचे हैं जो चुनाव मैदान में लड़ेंगे। नाम वापस लेने वालों में भाजपा और निर्दलीय से पुष्पराज बागरी, निर्दलीय प्रत्याशी वंदना बागरी और निर्दलीय प्रत्याशी राकेश कुमार शामिल हैं। जबकि चुनाव लड़ने के लिए मैदान में अब सिर्फ जिनमें उपेन्द्र कुमार (शिवसेना), कल्पना वर्मा (इंडियन नेशनल कांग्रेस), राजेन्द्र कुमार (निर्दलीय), बच्चा (निर्दलीय), दद्दू प्रसाद अहिरवार (निर्दलीय), कल्पना वर्मा (निर्दलीय), राजेन्द्र डोहर (निर्दलीय), बालगोविन्द चौधरी (निर्दलीय), रामगरीब (निर्दलीय), राजेश कुमार (निर्दलीय), धीरेन्द्र सिंह (समाजवादी), रामनरेश (निर्दलीय), पुष्पेन्द्र बागरी (राष्ट्रीय क्रांतिकारी समाजवादी पार्टी), राजा भइया (सैनिक समाज पार्टी), प्रतिमा बागरी (भारतीय जनता पार्टी), नंद किशोर (पीपल्स पार्टी ऑफ इंडिया 'डेमोक्रेटिक') के नाम शेष हैं।इनमें से सपा से प्रत्याशी धीरेंद्र सिंह धीरू के चुनाव चिन्ह को लेकर देर रात तक मंथन जारी रहा। क्योंकि चुनाव आयोग के निर्देशानुसार सपा का वोट प्रतिशत कम हो गया है और उसकी पार्टी उत्तर प्रदेश तक सीमित होकर क्षेत्रीय पार्टी बन गई है लेकिन राष्ट्रीय पार्टी बताकर पर्चा दाखिले को लेकर अधिकारी निर्वाचन आयोग के निर्देशों का इंतजार करते रहे जिसके बाद उन्हें एयर कंडीशनर का चुनाव चिन्ह प्रदान कर दिया गया।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local